UP: नोएडा-ग्रेटर नोएडा में बारिश का मतलब बेसमेंट बनेगा स्विमिंग पूल, बरसात में आफत में रहती है जान!


रिपोर्ट: आदित्य कुमार

नोएडा: वैसे तो बारिश और बारिश की बूंदें एक नई उम्मीद को जन्म देने वाली मानी जाती हैं. बारिश होते ही सभी के चेहरे खिल उठते हैं. लेकिन यूपी का हाईटेक शहर नोएडा और ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोगों के लिए बारिश किसी मुसीबत से कम नहीं होती है. बारिश के होते ही आम जनता की समस्याएं बढ़ने लगती हैं. ऐसा इसलिए नहीं कि यहां के लोग बारिश को पसंद नहीं करते. असल में बारिश को तो पसंद करते हैं लेकिन बारिश के बाद जो इमारत के बेसमेंट में पानी भर जाता है. उससे वो डरते हैं कि कहीं उनका घर ही धरातल में न समा जाए. क्या है पूरा मामला देखिए इस रिपोर्ट में.

बेसमेंट बन जाता है स्विमिंग पूल
नोएडा की कई ऐसी सोसाइटी हैं, जहां बारिश के बाद बेसमेंट में पानी भर जाता है. लोगों का कहना है कि इससे बिल्डिंग की नींव कमजोर हो रही है जिस कारण बिल्डिंग कभी भी गिर सकती है. कई बार ऐसी घटनाएं हो भी चुकी हैं. गार्डन गेटवे सोसाइटी के अश्विनी कुमार दीक्षित बताते हैं कि पांच साल पहले हम यहां शिफ्ट हुए थे. तब से आज तक हर चीज के लिए लड़ ही रहे हैं. बारिश जब भी होती है तो हम सहमे रहते हैं कि कहीं इमारत गिर न जाए, पूरे बेसमेंट में पानी भरा रहता है. एक बार यहां पर घटना हो चुकी है लेकिन फिर भी कोई कार्रवाई नहीं होती. ऐसा लगता है कोई बड़ी घटना के बाद ही सबकी नींद खुलेगी.

कई बार की शिकायत कोई भी नहीं सुनता
सेक्टर-75 के रहने वाले आनंद बताते हैं कि हमने कई बार इसकी शिकायत की है. पानी बेसमेंट में न जाए इसका ध्यान रखा जाए, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती. वो बताते हैं कि जब आप अंदर जायेंगे तो दिख जाएगा कि कैसे पानी दीवार को कमजोर कर रहा है. बारिश में जब हम सोने जाते हैं तो डर लगता है कि कहीं इमारत गिर गई तो क्या होगा. वहीं नोएडा अथॉरिटी के अधिकारी इश्तियाक अहमद का कहना है कि निवासियों की शिकायत के बाद बिल्डर को नोटिस जारी कर 15 दिन में काम पूरा करने का आदेश दिया गया था. अन्यथा की दृष्टि में कार्रवाई की जाएगी. जबकि पूरे मामले को लेकर बिल्डर से कोई जवाब नहीं मिला.



Source link

more recommended stories