स्कूलों फीस में वृद्धि: अभिभावकों ने ‘जूते पॉलिश’ कर किया विरोध प्रदर्शन

Noida News: नोएडा में भीषण सड़क हादसा, अलग- अलग घटनाओं में पांच लोगों की मौत


Parents protest by ‘polishing shoes’: उत्तर प्रदेश के जनपद गौतमबुद्ध नगर में निजी स्कूलों की मनमानी फीस बढ़ोतरी से अभिभावकों की मुश्किलें बढ़ गई है और रविवार को नेफोवा तथा एनसीआर अभिभावक संघ के बैनर तले अभिभावकों ने ग्रेटर नोएडा में ‘जूते पॉलिश’ कर विरोध प्रदर्शन किया. अभिभावकों ने जूते पॉलिश कर चंदा भी एकत्र किया.

अभिभावकों का कहना है कि महंगाई के कारण घर खर्च चलाना मुश्किल हो रहा है, ऐसे में बढ़ी हुई फीस कैसे दें. अभिभावकों का कहना है कि शिक्षा विभाग और जिला प्रशासन निजी स्कूलों की मनमानी रोकने में नाकाम हैं.

ऑनलाइन कक्षा के बावजूद पूरी फीस वसूली गई

नेफोवा के अध्यक्ष अभिषेक कुमार ने बताया, ‘स्कूलों की मनमानी बढ़ती जा रही है, जिसकी वजह से अभिभावक परेशान हैं. महामारी में कई राज्यों में निजी स्कूलों ने फीस माफ कर दी है. कोरोना काल में उत्तर प्रदेश में भी ऐसी ही अपेक्षा थी. ऑनलाइन कक्षाएं चलने के बावजूद अभिभावकों से पूरी फीस वसूली गई.’

स्कूलों के खिलाफ सख्ती नहीं

उधर, एनसीआर अभिभावक संघ के अध्यक्ष सुखपाल सिंह तूर और महासचिव विकास कटियार ने बताया कि सरकार की ऐसी क्या मजबूरी है, जो स्कूलों के खिलाफ सख्ती नहीं कर रही है. उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले घोषणा की गई थी कि इस साल स्कूल फीस नहीं बढ़ेगी, फिर अब फीस बढ़ाने की मंजूरी क्यों दे दी गई.

फीस में बढ़ोतरी से घर का बजट बिगड़ चुका है

उन्होंने बताया कि कुछ स्कूलों ने बिल्डिंग शुल्क को भी ट्यूशन फीस में जोड़कर फीस में वृद्धि कर दी है और महंगाई की मार के कारण आम आदमी के घर का बजट बिगड़ चुका है और अब बच्चों की फीस में बढ़ोतरी ने अभिभावकों की कमर ही तोड़ दी है. उन्होंने मुख्यमंत्री से अपील की है कि बढ़ी हुई फीस वापस ली जाए.

ये भी पढ़ें-

KCET 2022 एप्लीकेशन फॉर्म आज से भरें, जानें कर्नाटक CET का अप्लाई प्रोसेस

JEE Advanced 2022 date: जेईई एडवांस 2022 एग्जाम 28 अगस्त को, आवेदन से क्राइटेरिया और रिजल्ट तक जानें सबकुछ

आपके शहर से (नोएडा)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Education news, School Fees



Source link

more recommended stories