अवैध खनन को लेकर नेता ने एसडीएम को धमकाया, अब पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल


इटावा. उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में योगी सरकार की जीरो टालरेंस नीति के तहत अवैध खनन को लेकर एसडीएम को धमकाने और खनन से जुड़े हुए ट्रकों को छुड़ाने का दबाब बनाने के मामले में कथित बीजेपी नेता शिवकिशोर यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार नेता चकरनगर की ब्लॉक प्रमुख सुनीता यादव का पति है. अब यादव को कड़ी सुरक्षा के बीच जेल भेजा गया है. पुलिस के अनुसार खनन माफियाओं के खिलाफ पुलिस और प्रशासन की ओर से संयुक्त अभियान में अवैध खनन परिवहन को रोकने और एसडीएम चकरनगर मलखान सिंह को धमकाने के आरोप में यादव को गिरफ्तार किया गया है.

एसडीएम ने दर्ज करवाया था मामला
एसडीएम चकरनगर की शिकायत पर चकनगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था. यादव की पत्नी सुनीता यादव पिछले साल हुए पंचायत चुनाव में चकननगर की ब्लॉक प्रमुख निर्वाचित हुई थी लेकिन एमएलसी चुनाव से पहले ही शिवकिशोर यादव ने सपा छोड़ दी थी और तभी से उनकी करीबी बीजेपी के नेताओं के साथ रही है. मध्यप्रदेश से अवैध खनन परिवहन के मामले में कार्रवाई के बाद एसडीएम पर दबाव बनाने व धमकी देने के मामले में पुलिस ने यादव को गिरफ्तार कर लिया है.
26 अप्रैल को एसडीएम मलखान सिंह ने सहसों थाना क्षेत्र के मध्य प्रदेश की सीमा सोनेपुरा पर अवैध मौरंग खनन परिवहन में ओवरलोड आठ ट्रक पकड़े थे. इसमें खनिज एवं परिवहन विभाग द्वारा कार्रवाई की गई थी. इस पर शिव किशोर यादव बुधवार को एसडीएम कार्यालय में वार्ता करने गए लेकिन वहां पर अफसर से अभद्रता कर दी. इसके बाद एसडीएम ने पूरे मामले से एसएसपी जय प्रकाश सिंह को अवगत कराया था. उनकी तहरीर के बाद चकरनगर थाने में सरकारी कार्य में बाधा डालने सहित धमकाने व खनिज एक्ट में मुकदमा दर्ज कराया गया था. सहसों थाना पुलिस ने शिव किशोर यादव को हैंवरा स्थित आवास से गिरफ्तार कर लिया है.

साल 2012 मे पंचायत चुनाव मे शिव किशोर यादव की पत्नी सुनीता यादव समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के रूप मे चकरनगर ब्लॉक प्रमुख पद के लिए मैदान में थीं. जहां पर सुनीता की जीत हो गई. लेकिन 9 अप्रैल को एमएलसी चुनाव से पहले शिवकिशोर यादव ने सपा का दामन छोड़ दिया था और बताया जाता है कि वे बीजेपी में शामिल हो गया था. जिसके बाद से ही उसकी भाजपा के नेताओं से लगातार करीबियत बनी हुई है.

खनन से लेना देना नहीं
शिव किशोर यादव गिरफ्तारी को लेकर बोले कि उनका खनन से कोई भी लेना देना नहीं है. पत्नी के ब्लॉक प्रमुख होने के नाते एसडीएम से मुलाकात हुई लेकिन कोई नाराजगी जैसा कुछ भी नहीं हुआ है.

Tags: Etawa news, UP news



Source link

more recommended stories