यूपी के महोबा में बड़ी लापरवाही: बारिश में भीगे सरकारी चावल के 15 हजार बोरे, अफसरों ने साधी चुप्पी


महोबा. महोबा में भारतीय खाद्य निगम के अधिकारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई है. विभागीय अफसरों की उदासीनता के कारण पंजाब से यूपी के महोबा पहुंचे चावल के 15 हजार बोरे बारिश के पानी में भीगकर कर बर्बाद हो गए हैं. विभागीय अधिकारियों की इस लापरवाही के चलते गरीबों को मिलने वाले खाद्यान्न पर संकट के बादल गहराने के आसार बढ़ गए हैं.

महोबा में भारतीय खाद्य निगम के टेक्निकल असिस्टेंट अमित शर्मा ने बताया कि 3 दिन पहले पंजाब से महोबा रेलवे स्टेशन पर करीब 75000 चावल के बोरे भेजे गए थे, जिनमें से चावल की करीब 15 हजार बोरों को ठेकेदार की लापरवाही से समय रहते नहीं उठाया गया है. सोमवार को अचानक दोपहर हुई मूसलाधार बारिश और आंधी तूफान से चावल को भारी नुकसान पहुंचा है. चावल के बोरे पानी में भीग गए हैं.

गोदाम का ठेकेदार मौके से भागा
चावल के 15 हजार बोरों के भीगने का मामला सामने आते ही एफसीआई गोदाम का ठेकेदार मौके से भाग गया है. जिले के प्रशासनिक आला अधिकारी इस मामले में कुछ भी बोलने से फिलहाल अभी बच रहे हैं. वहीं, एफसीआई गोदाम के टेक्निकल असिस्टेंट इस मामले में जांच की बात कह रहे हैं.

तीन दिन पहले आया था 75000 बोरा चावल
महोबा रेलवे स्टेशन पर भारत सरकार द्वारा 3 दिन पूर्व करीब चावल की 75000 बोरों को भेजा गया था. महोबा में बैठे भारतीय खाद्य निगम के अधिकारियों कर्मचारियों की लापरवाही के चलते यह चावल एफसीआई गोदाम तक पहुंचने से पहले ही मॉनसून की पहली बारिश की भेंट चढ़ गया. चावल के बोरे भीगकर बर्बाद हो गए हैं.

छा सकता है मुफ्त राशन पर संकट
हालात यह हैं कि चावल के बोरे भीगने के बाद ठेकेदार मौके से फरार हो गया है, जिसके चलते आने वाले समय में गरीबों को मिलने वाले सरकारी मुफ्त राशन पर संकट के बादल गहराने का खतरा मंडरा रहा है. प्रशासनिक आला अधिकारी इस पूरे घटनाक्रम पर चुप्पी साधे हुए हैं.

Tags: Bundelkhand news, Free Ration, Mahoba news, UP news



Source link

more recommended stories