योगी सरकार सुधारेगी UP की सेहत, 5 साल में MBBS की 7 हजार सीटें बढ़ेंगी तो शुरू होंगे 49 नर्सिंग स्‍कूल


लखनऊ. उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन में स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़े पांच नए कोर्सों को जल्‍द शामिल किया जाएगा, जिसमें ओटी टेक्‍नीशियन, रेडियोथेरेपी टेक्‍नीशियन, एनेस्‍थीसिया टेक्नीशियन, डायलिसिस टेक्‍नीशियन और एमआरआई टेक्‍नीशियन शामिल हैं. बता दें कि योगी सरकार ने पिछले 5 वर्षों में स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी है. इसी वजह से उत्तर प्रदेश की जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिली हैं. ऐसे में योगी सरकार 2.0 ने आने वाले पांच सालों के लिए एक बेहतरीन रोडमैप तैयार कर लिया है. पिछले कई दशकों से यूपी की स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं में रोढ़ा बने मानव संसाधन के लिए योगी सरकार ने एक बेहतरीन योजना के तहत काम करने जा रही है.

योगी सरकार नर्सिंग पैरामेडिकल में गुणात्‍मक सुधार करेगी. इसके तहत सरकारी मेडिकल कॉलेज, जिला अस्‍पतालों में नर्सिंग कॉलेज की स्‍थापना और सीट में वृद्धि की जाएगी. इसके साथ ही प्राइवेट नर्सिंग कॉलेज की गुणवत्‍ता में सुधार किया जाएगा. योगी सरकार ने इसके लिए एक बेहतरीन रोडमैप तैयार किया है. प्रदेश में छह माह में पांच नर्सिंग स्‍कूल, तीन पैरामेडिकल को क्रियाशील किया जाएगा. वहीं 24 स्किल लैब का शिल्‍यान्‍यास किया जाएगा. नीट के जरिए से जीएनएम और बीएससी नर्सिंग में प्रवेश किया जाएगा.

यूपी में अगले पांच साल में चालू होंगे 49 से अधिक नर्सिंग स्‍कूल
उत्तर प्रदेश में पांच वर्षों में 49 से अधिक नर्सिंग स्‍कूल, तो वहीं पैरामेडिकल के लिए 49 क्रियाशील होंगे. पांच वर्षों में एमबीबीएस की 7000, पीजी की 3000, नर्सिंग की 14,500 और पैरामेडिकल की 3600 सीटों को बढ़ाया जाएगा. यही नहीं,पिछली सरकारों के मुकाबले योगी सरकार का कार्यकाल स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं के लिए स्‍वर्णिम युग लेकर आई है. 24 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश में साल 2017 से पहले जहां महज 12 मेडिकल कॉलेज थे, तो वहीं योगी सरकार द्वारा सत्‍ता की कमान संभालने के बाद यूपी में तेजी से चिकित्‍सीय सुविधाओं में विस्‍तार किया गया है.

Tags: MBBS, Nursing College, UP Government, Yogi adityanath



Source link

more recommended stories