योगी सरकार 2.0 में भू माफियाओं पर बड़ा एक्शन, 3 दिन में 25 करोड़ की 29000 वर्ग मीटर जमीन कब्जा मुक्त


मेरठ. दिल्ली-एनसीआर में सरकारी जमीन कब्जा करने वालों की अब खैर नहीं। गैंगस्टर एक्ट के तहत बड़ी कार्रवाई लगातार जारी है. कमिश्नर मेरठ सुरेंद्र सिंह की पहल पर 3 दिन का अभियान चला गया. जिसमें मेरठ में अर्बन सीलिंग की करीब 29000 वर्ग मीटर जमीन कब्जा मुक्त कराई गई. इस जमीन की कीमत 25 करोड़ से ज्यादा की आंकी जा रही है. बुलडोजर अभियान के बाद मेरठ के उन शहरी इलाकों की तस्वीरें बदल गई है, जहां अब तक भू माफियाओं का कब्जा था. अब सरकारी बोर्ड इन जमीनों पर लग गए हैं.

दरअसल, भू माफियाओं और बिल्डरों ने इन जमीनों पर विवाद करके इन्हें कोर्ट में चैलेंज कर दिया। जिसके बाद सरकारी जमीनों पर कब्जा होने शुरू हो गए. कमिश्नर की माने तो विकास प्राधिकरण और दूसरे विभागों की सांठगांठ के चलते ऐसे मुकदमों को जानबूझकर सरकारी कर्मचारी पैरवी नहीं करते और फिर सरकार मुकदमा हार जाती हैं. लेकिन योगी सरकार 2.0 में अब सरकारी जमीन पर कब्जा करने वाले जेल जाएंगे. गैंगस्टर एक्ट के तहत ऐसे बिल्डरों को चिन्हित करके कार्रवाई की जाएगी. मेरठ में 29000 वर्ग मीटर जमीन अलग-अलग इलाकों में कब्जा मुक्त कराई गई है. जिन पर अब सरकारी बोर्ड लग चुके हैं. ऐसी जमीनों की कटीले तारों से या फिर दीवार बनाकर चारदीवारी की जाएगी. ताकि दोबारा इस पर कब्जा ना हो सके.

अब पूरे मंडल में चलेगा अभियान
वहीं सरकारी जमीनों पर कब्जा कर कर बेचने वाले बिल्डरों और भूमाफिया की संपत्ति जब्त कर सरकार उन जमीनों की कीमत वसूल करेगी. मेरठ में कमिश्नर सुरेंद्र कुमार का एक्सपेरिमेंट सफल रहा. 3 दिन में सरकार की बेशकीमती जमीन कबजा मुक्त की गई है. जिसके बाद अब यह अभियान पूरे मंडल में चलाया जाएगा. आपको बता दें कि दिल्ली से सटे एनसीआर में जमीनों के कीमत आसमान छू रही हैं और ऐसे में सरकार की बेशकीमती जमीनों पर भूमाफिया अपनी नजरें जमा कर बैठे हैं. जिन माफियाओं ने जमीनों पर कब्जा करके उन्हें बेचा है, अब उन पर प्रशासन एक्शन मोड में कार्रवाई करने के लिए ताना-बना तैयार कर रहा है.

Tags: Meerut news, UP bulldozer action, UP latest news



Source link

more recommended stories