Women Empowerment: स्पेन से आगरा आई वकील मिरेन महिला अधिकारों को लेकर जगा रही अलख


हरिकांत शर्मा 

आगरा. आज के दौर में महिलाएं हर वो काम कर रही हैं जो पहले उन्हें कह दिया जाता था कि यह उनके बस की बात नहीं है, लेकिन अब साहस और हिम्मत की बदौलत महिलाएं हर क्षेत्र में आगे हैं. तस्वीर बदल रही है, मगर कुछ महिलाएं ऐसी भी हैं जिनको शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना से गुजरना पड़ता है. हर दिन न जाने कितनी ही महिलाएं घरेलू हिंसा का शिकार होती हैं, लेकिन अब महिलाओं को जागरूक होने की जरूरत है… यह कहना है स्पेन से आई मिरेन का जो कि पेशे से वकील हैं. वो महिला सशक्तिकरण के लिए स्पेन से हिंदुस्तान आकर महिलाओं को जागरूक कर रही हैं.

शीरोज हैंगऑउट कैफे में स्पेन की संस्था बेकोज बेको वकील मिरेन ने फेमिनिज्म के ऊपर कार्यशाला आयोजित की. उन्होंने महिलाओं और पुरुषों की बराबरी होने के बावजूद महिलाओं पर हो रही हिंसा पर चिंता जताई. शारीरिक हिंसा, मानसिक प्रताड़ना, आर्थिक हिंसा, ऑनर किलिंग, एसिड अटैक, मानव तस्करी, बलात्कार, जबरदस्ती शादी ऐसे विषय हैं जिससे शायद ही ऐसी कोई महिला हो, जो न गुजरी हो. मिरेन ने शीरोज के सदस्यों को विस्तार से इन टॉपिक पर जानकारी साझा की. इस मौके पर वकील प्रमिला शर्मा ने भी भारतीय कानून और महिला अधिकारों के बारे में विस्तार से बताया कि कैसे सरकारी योजना के तहत महिला अधिकारों को सुरक्षित किया जा सकता है.

क्या है शीरोज हैंगऑउट कैफे

शीरोज हैंगऑउट कैफे एसिड अटैक सर्वाइवर्स के द्वारा संचालित छांव फाउंडेशन का एक उपक्रम है. इस कैफे में एसिड अटैक सर्वाइवर्स काम करती हैं. शीरोज हैंगऑउट कैफे आगरा आने वाले पर्यटकों में काफी लोकप्रिय है. यहां कार्यरत एसिड अटैक सर्वाइवर्स महिला सशक्तिकरण का जीता जगता उदारहण हैं. अपने साथ वो अपने परिवार का भी खर्च खुद उठाती हैं.

बता दें कि शीरोज हैंगऑउट एजुकेशन प्रोजेक्ट के तहज स्पेन जाने का अवसर देता है. स्पेन की बेकोज बेको संस्था पिछले पांच साल से इसमें सहयोग कर रही है. इनके सहयोग से हर साल तीन सर्वाइवर्स स्पेन में एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत जाती हैं.

आगरा आयी मिरेन ने कहा कि महिलाओं की सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं में भागीदारी बराबर सुनिश्चित करनी होगी. यह एक महत्वपूर्ण कदम होगा जिससे महिलाएं आर्थिक और सामाजिक रूप से सशक्त होंगी. शीरोज हैंगऑउट ने एक बेहतर प्लेटफ्रॉम दिया है जिससे हम अपने अधिकारों को लेकर जागरूक होते रहते हैं.

Tags: Agra news, Up news in hindi, Women Empowerment, Women rights



Source link