Weather Alert: अप्रैल के पहले हफ्ते में ही पारा 42 डिग्री पार, इंसान ही नहीं लायन सफारी के शेर भी हुए बेहाल

UPTET 2021 Result Live : आज जारी होगा यूपीटीईटी रिजल्ट


इटावा. अप्रैल के पहले हफ्ते में ही तापमान ने 42 डिग्री सेल्सियस के आंकड़ों छू चुका है. इतना ही नहीं प्रचंड गर्मी के साथ लू के थपेड़ों से इंसान तो इंसान जानवर भी बेहाल नजर आ रहे हैं. तापमान बढ़ने के साथ ही उत्तर प्रदेश के इटावा सफारी पार्क के वन्य जीवों की मुश्किलें भी बढ़ना शुरू हो गई है. अप्रैल के पहले सप्ताह मे ही एकाएक 42 डिग्री तक तापमान पहुंच जाना सफारी प्रबंधन के लिए चिंता का विषय बन गया है. मौसम विभाग की मानें तो मई जून में तापमान में और अधिक इजाफा होने का अंदेशा है. सफारी के प्रबंधन ने अप्रैल में ही वन्य जीवों को भीषण गर्मी से बचाने के लिए इंतजाम अभी से कर दिये गये हैं,  लेकिन अगर यह तापमान 45 डिग्री के ऊपर जाता है तो फिर वन्य जीवों को उनके बाड़े से निकालने पर विचार करना पड़ सकता है.

इटावा लायन सफारी में फिलहाल 18 एशियाटिक शेर हैं, जो पर्यटकों के लिए सबसे बड़ा आकर्षण का केंद्र है. इसके अलावा 3 भालू, 11 लेपर्ड, 86 काले हिरण, 50 स्पाटेड डियर, 13 सांभर, तीन तेंदुओ के अलावा एक चीता भी मौजूद है. 42 डिग्री तक तापमान पहुंचने के साथ ही सफारी प्रशासन ने बाड़ों में कूलर आदि लगाने का काम शुरू कर दिया है. बाड़ों में  तैनात कर्मियों को इस बात के भी निर्देश दिये गये हैं कि खस की लगाई गई पत्तियों पर हर हाल मे पानी डाला जाता रहना चाहिए, ताकि शेरों व अन्य जानवरों को गर्मी का एहसास ना हो. ब्रीडिंग सेंटर और बाड़ों में घास की दीवार भी लगाई गई है. खुले में विचरण करने वाले जानवरों के लिए भी जगह-जगह पानी के इंतजाम किए गए हैं.

गर्मी की विभीषिका से निपटने के लिए पूरी तैयारी
समय से पहले ही अप्रैल में ही गर्मी का कहर व्यापक हो चला है, जहां एक अप्रैल को तापमान 38 डिग्री तक ही था, लेकिन 8 अप्रैलआते आते पारा 42 डिग्री तक आ पहुंचा है. इसी के मद्देनजर सफारी प्रबंधन ने भी गर्मी की विभीषिका से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली है. सफारी के वन्य जीवों को गर्मी से राहत दिलाने के लिए कूलर, आदि का इंतजात किया गया है. क्षेत्रीय वन अधिकारी विनीत सक्सेना ने बताया कि एक अप्रैल को तापमान 38 डिग्री था लेकिन 8 अप्रैल को यही तापमान 42 डिग्री तक आ पहुंचा है. इसलिए सफारी मे वन्य जीवों को बचाने के लिए कूलर, खस की पटटी के अलावा घास की दीवारो को बनाया गया है ताकि शेर, तेंदुआ, चीता,हि रन,भालू आदि को गर्मी का ना केवल कम एहसास हो बल्कि गर्मी से बीमार होने से बच सकें.

आपके शहर से (इटावा)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Etawah Lion Safari, UP latest news, UP Weather



Source link

more recommended stories