VIDEO: बुंदेलखंड के डिफेंस कॉरिडोर का शुरू नहीं हुआ काम तो अधिग्रहित जमीन पर किसान करने लगे खेती


रिपोर्ट – शाश्वत सिंह

झांसी. मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल डिफेंस कॉरिडोर को झांसी में शुरू करने की कोशिश लम्बे समय से जारी है. इसकी कवायद चार साल शुरू हुई थी. जबकि बीते साल 19 नवंबर को झांसी आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक कम्पनी का शिलान्यास भी किया था. हालांकि इस सबके बावजूद वहां आज तक काम शुरू नहीं हो सका है. वहीं, डिफेंस कॉरिडोर के लिए किसानों से जमीन लेने के बाद भी जब काम शुरू नहीं हुआ, तो किसानों ने एक बार फिर अधिग्रहित जमीन पर खेती शुरू कर दी है.

उत्तर प्रदेश औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) द्वारा गरौठा तहसील में 1034 हेक्टेयर जमीन किसानों से डिफेंस कॉरिडोर के लिए ली गई थी. एरच, नेकारा, कठररी और लभेरा गांव में किसानों से जमीन ली गई थी. इसमें से रक्षा मंत्रालय के एक उपक्रम भारत डायनामिक्स लिमिटेड को 183 हेक्टेयर जमीन भी दे दी थी. इस जमीन पर मिसाइल बननी थीं. लम्बे समय तक जब काम शुरू नहीं हुआ, तो किसानों ने एक बार फिर इस जमीन पर खेती शुरू कर दी.

4 साल में नहीं हुआ कोई काम
इस मामले में एसडीएम गरौठा क्षितिज द्विवेदी ने बताया कि यूपीडा की जमीन पर जिन लोगों ने खेती की है, उन सभी को नोटिस जारी किया गया है. गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 2018 में झांसी, चित्रकूट, आगरा, अलीगढ़, कानपुर और लखनऊ में डिफेंस कॉरिडोर को विकसित करने की घोषणा की थी.17 नवंबर को 2021 को भारत डायनामिक्स लिमिटेड को जमीन आवंटित कर दी गई. दो दिन बाद 19 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिलान्यास किया था. इसके बाद भी अभी तक निर्माण का काम आगे नहीं बढ़ा है.

Tags: Jhansi news, UP news



Source link