Varanasi News: दुनिया का पहला एयरपोर्ट, जहां संस्कृत में होती है घोषणा


अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. देव भाषा संस्कृत (Sanskrit) के उत्थान के लिए वाराणसी एयरपोर्ट ने अनोखा कदम उठाया है. वाराणसी (Varanasi) के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर हिंदी और अंग्रेजी के साथ संस्कृत भाषा में भी अनाउंसमेंट शुरू हो गया है. एयरपोर्ट पर कोरोना संक्रमण (Covid-19) से बचाव के लिए संस्कृत भाषा में अनाउंसमेंट किया जा रहा है. इस अनोखी पहल के साथ ही वाराणसी एयरपोर्ट (Varanasi airport) संस्कृत में अनाउंसमेंट कराने वाला दुनिया का पहला एयरपोर्ट बन गया है.

वाराणसी एयरपोर्ट अथॉरिटी के इस अनोखे कदम की सराहना यात्री भी कर रहे हैं. यात्रियों को संस्कृत में अनाउंसमेंट खूब पसंद आ रहा है. बताते चलें कि बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (Banaras Hindu University) के संस्कृत डिपार्टमेंट की इस पहल के बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी ने ये कदम उठाया है.

संस्कृति से लोग हों रूबरू
वाराणसी एयरपोर्ट की निदेशक अर्यमा सान्याल ने बताया कि काशी (Kashi) को धर्म और संस्कृति की राजधानी कहते हैं. ऐसे में यहां की संस्कृति और सभ्यता को लोग समझें और देव भाषा संस्कृत की पूरी दुनिया में नई पहचान बनें, इसके लिए हम लोगों ने ये पहल की है. उन्होंने साथ ही बताया कि वाराणसी एयरपोर्ट संस्कृत में अनाउंसमेंट करने वाला दुनिया का पहला एयरपोर्ट है.

यात्रियों में भी खुशी
वाराणसी एयरपोर्ट पर आए यात्री विश्व निगम कहते हैं, पहली बार जब उन्होंने अनाउंसमेंट सुनीं तो उन्हें कुछ समझ नहीं आया, लेकिन ये आवाज अपनी ओर आकर्षित कर रही थी. फिर दोबारा जब सुना तो समझ आया कि ये संस्कृत भाषा में बोला जा रहा है, जो कि बहुत ही बेहतरीन शुरुआत है.’

Tags: Varanasi news



Source link

more recommended stories