Varanasi Flood : घरों में घुसने लगा गंगा का पानी, हजारों बेघर; चुनावी वादों से मायूस लोग पलायन पर मजबूर


रिपोर्ट – अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. भोलेनाथ की नगरी में गंगा अपने रौद्र रूप में है. गंगा (Ganga River) के जलस्तर में बढ़ोत्तरी के कारण वाराणसी के 20 से अधिक गांव, आधा दर्जन मुहल्ले जलमग्न हो गए हैं. हालात ये हैं कि इन इलाकों में गंगा का पानी पहुंचने के बाद सैकड़ों घरों में चार से पांच फीट तक पानी भर चुका है. हजारों लोग बेघर हो गए हैं. इतना ही नहीं, अब तटवर्ती इलाकों के साथ ही शहर के रिहायशी क्षेत्रों में भी गंगा का पानी पहुंच गया है और लोग पलायन करने के लिए मजबूर हो रहे हैं.

वाराणसी के सामने घाट स्थित मारुति नगर इलाके में सैकड़ों घरों तक गंगा का पानी पहुंच गया है. इसके अलावा सड़कें भी जलमग्न हो गई हैं. गंगा के जलस्तर में बढ़ोतरी के बाद अब इलाके के लोग भी घर छोड़ अपने रिश्तेदारों या भी गांव की ओर पलायन कर रहे हैं. स्थानीय निवासी पूजा राय ने बताया कि बाढ़ के कारण यहां पीने के पानी की किल्लत के अलावा लाइट भी कट रही है इसलिए यहां रहना मुश्किल हो रहा है.

बस वादा ही रह गया चुनावी वादा!

स्थानीय निवासी बनारसी मिश्र ने बताया कि चुनाव के समय स्थानीय विधायक ने कहा था कि यहां फाटक लगेगा, जिससे स्थानीय लोगों को बाढ़ से राहत मिलेगी. लेकिन चुनाव बीतने के बाद वादा सिर्फ वादा ही रह गया. अब आलम यह है कि 2 दिनों से यहां गंगा का पानी है और लगातार जलस्तर में बढ़ोत्तरी हो रही है, तो हम लोग घर छोड़ कर सुरक्षित स्थान पर जा रहे हैं.

मिश्र ने यह भी कहा कि बाढ़ से निकलने के लिए उन्होंने प्रशासन से मदद भी मांगी लेकिन अभी तक यहां एनडीआरएफ की कोई भी नाव लोगों को रेस्क्यू करने नहीं पहुंची है. मिश्र के मुताबिक कमर भर पानी से लोगों को खुद ही सामान लेकर अपने घरों से पलायन करना पड़ रहा है.

Tags: UP floods, Varanasi news



Source link

more recommended stories