Varanasi: अब फिर से चमाचम चमकेंगे काशी के घाट, वाराणसी नगर निगम ने तैयार किया है ये खास प्लान


हाइलाइट्स

वाराणसी के नगर आयुक्त प्रणय सिंह ने बताया कि काशी के 84 घाटों पर 67 पंप के जरिए सफाई का स्पेशल ड्राइव चल रहा है.
रविदास, अस्सी, दशाश्वमेध, ललिता और नमो घाट सहित अन्य प्रमुख घाटों को प्राथमिकता के आधार पर साफ किया जा रहा है.
वाराणसी में बाढ़ का पानी 2 सितंबर से घटना शुरू हुआ, जिसके बाद से घाटों और गलियों में सिल्ट और मिट्टी जमा हो गई थी.

रिपोर्ट: अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के घाट अब फिर से पहले की तरह चमकेंगे. इसके लिए नगर निगम ने पूरा प्लान तैयार कर लिया है. जिसके तहत काशी के 84 घाटों पर 67 पंप के जरिए इसकी सफाई का काम किया जा रहा है. नगर निगम पहले उन प्रमुख घाटों पर विशेष अभियान चलाकर सफाई करा रहा है, जहां हर दिन हजारों लोग घूमने आते हैं. बताते चले कि वाराणसी में बाढ़ (Flood) के बाद बनारस (Banaras) के घाटों का हाल बदहाल दिख रहा था. लेकिन अब उसकी सफाई के लिए नगर निगम ने कमर कस ली है.

वाराणसी के नगर आयुक्त प्रणय सिंह ने बताया कि वे खुद भी इस पूरे सफाई अभियान की मॉनिटरिंग कर रहे हैं. घाटों पर लगे सीसीटीवी (CCTV) से लगातार सफाई अभियान पर नजर रखी जा रही है. पहले रविदास, अस्सी, दशाश्वमेध, ललिता और नमो घाट सहित अन्य प्रमुख घाटों को प्राथमिकता के आधार पर साफ किया जा रहा है. यहां आधा दर्जन पंप से हर घाट की सफाई हो रही है.

घट रहा जलस्तर, हो रही सफाई

वाराणसी में बाढ़ का पानी 2 सितंबर से घटना शुरू हुआ, जिसके बाद से घाटों और गलियों में सिल्ट और मिट्टी जमा हो गई थी. लेकिन अब कई सारे घाटों पर लोगों की आवाजाही भी शुरू हो गई है. अब जैसे-जैसे बाढ़ का पानी घट रहा है, वैसे-वैसे कुछ सिल्ट भी बाहर निकल रहा है. इन जगहों की साफ-सफाई लगातार कराई जा रही है.



Source link

more recommended stories