वाराणसी में तमिल की कला-संस्कृति का लें महीने भर आनंद, पीएम नरेंद्र मोदी भी करेंगे दीदार


वाराणसी. देश की सांस्कृतिक राजधानी काशी में दक्षिण से उत्तर की दूरी कम करने के लिए ‘काशी-तमिल संगमम्’ का आयोजन हुआ है. इस आयोजन में एक महीने तक काशी के लोग तमिलनाडु की कला-संस्कृति की झलक देखेंगे. इसके लिए बीएचयू के एमपी थिएटर मैदान में 75 स्टॉल लगाए गए हैं. बीएचयू में लगे इन स्टॉल में वहां की कला, संस्कृति, खान-पान की झलक देखने को मिलेगी. पीएम नरेंद्र मोदी भी 19 नवंबर को इसका दीदार करेंगे.

इन स्टॉल्स में वहां के हैंडिक्राफ्ट और हैंडलूम की प्रदर्शनी के अलावा वहां के खान-पान पर आधारित सामानों के स्टॉल लगेंगे, जो काशी में तमिलनाडु की सांस्कृतिक विविधता को बताएंगे. इसके अलावा यहां फ्रीडम फाइटर्स पर आधारित एक प्रदर्शनी भी लगाई गई है. इन सब के साथ नेशनल बुक ट्रस्ट की प्रदर्शनी सेंट्रल इंस्टिट्यूट ऑफ़ लैंग्वेज की ओर से भी लगी है.

पर्यटन विभाग की उपनिदेशक प्रीति श्रीवास्तव ने बताया कि 30 दिन तक चलने वाले काशी तमिल संगमम् में कुल 51 सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा, जिसमें तमिलनाडु के सभी रंग दिखेंगे. इसमें मीनाक्षी चितरंजन का भरतनाट्यम, तमिलनाडु का फोक म्यूजिक, प्राचीन संगीतमय कथा-कथन, पौराणिक ऐतिहासिक ड्रामा, शिव पुराण, रामायण का मंचन होगा.

बताते चलें की तमिलनाडु से पहला जत्था शुक्रवार की देर रात करीब डेढ़ बजे ट्रेन के जरिए वाराणसी स्टेशन आएगा. जहां उनका भव्य स्वागत किया जाएगा. वाराणसी आगमन के बाद वे सुबह गंगा स्नान करेंगे और काशी विश्वनाथधाम जाएंगे फिर दोपहर में पीएम के कार्यक्रम में शामिल होंगे. इसकी तैयारी पूरी हो गई है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 18, 2022, 20:07 IST



Source link