Uttarakhand Petrol-Diesel Crisis: बागेश्वर में हाईवे तक जाम; अफवाह फैलाने वालों पर केस; क्या है UP का हाल?


देहरादून. उत्तराखंड में पेट्रोल ​डीजल की किल्लत से जुड़ी बड़ी खबर यह है कि बागेश्वर में हाहाकार मच गया है और सड़कों पर लंबा जाम लगने की नौबत आ गई है. यहां पेट्रोल पंपों पर फ्यूल खत्म हो जाने से लोग परेशान हो रहे हैं. वहीं, उत्तराखंड में कुछ जगहों पर इंटरनेट के ज़रिये पेट्रोल डीज़ल की सप्लाई बंद होने संबंधी अफ़वाहें फैलने के बाद अफरातफरी मचने या भीड़ लगने की खबरें भी बनी हुई हैं. इस बीच ऐसी अफवाहें फैलाने वाले 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिये गए हैं.

बागेश्वर संवाददाता ने रिपोर्ट किया कि अधिकांश पेट्रोल पंपों पर डीजल व पेट्रोल खत्म हो गया है. इसके चलते मुख्य बाज़ार के पेट्रोल पंप पर वाहनों की लंबी कतार लग गई और तेल के लिए मारामारी की नौबत बन गई. लंबी कतारों के चलते नेशनल हाईवे पर जाम जैसे हालात पैदा हो गए. तेल की किल्लत को देखते हुए पेट्रोल पंप मालिकों ने केन आदि में तेल देने से मना कर दिया. पिछले कई दिनों से बागेश्वर में ऐसी ही स्थिति बनी हुई है.

वहीं, डीएसओ ऑफिस से इस बारे में संपर्क किए जाने पर पेट्रोल और डीज़ल की भरपूर मात्रा का आकड़ा बताया गया, लेकिन पूरे ज़िले की हकीकत कुछ और है. एसडीएम हर गिरी ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से ज़िले में तेल की डिमांड ज़्यादा बढ़ी है और आपूर्ति पर्याप्त नहीं हो पाई है. हालांकि गिरी ने जल्द ही स्थिति ठीक हो जाने की बात कही. गौरतलब है कि 15 जून को देहरादून, अल्मोड़ा और हरिद्वार के कुछ इलाकों में पेट्रोल डीजल सप्लाई की किल्लत को लेकर न्यूज़18 ने आपको विस्तार से खबर दी थी.

सोशल मीडिया अकाउंट मार्क हुए
इधर, पेट्रोल की किल्लत की अफवाह फैलाने वाले 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. देहरादून के डीएम आर राजेश कुमार के निर्देश के बाद यह एक्शन लिया गया है. 13 जून को पेट्रोल डीजल की किल्लत संबंधी जो अफवाह फैलाई गई थी, उस संबंध में यह कार्रवाई हुई है. इन 6 लोगों के सोशल मीडिया अकाउंट चिह्नित करने के बाद डीएम के निर्देश पर बाकी लोगों को भी चिह्नित किया जा रहा है.

यूपी में भी नज़र आने लगा संकट
तेल कंपनियों के तेल आपूर्ति कोटे में कटौती किए जाने का असर लखनऊ समेत पूरे यूपी में नज़र आना शुरू हो गया है. मध्य प्रदेश, राजस्थान के बाद कथित तौर पर यूपी में कुछ पेट्रोल पंपों में सप्लाई ठप होने से तेल मिलना बंद हो रहा है. एक खबर की मानें तो एचपीसीएल और बीपीसीएल कंपनियों के पेट्रोल पंप प्रभावित हैं, लेकिन इन कंपनियों के क्षेत्रीय अफसर ऐसे संकट को नहीं मान रहे. पेट्रोल पंप एसोसिएशन एचपसीएल के पंपों पर तो सप्लाई अवरुद्ध बता ही रही है.
(सुष्मिता थापा और भारती सकलानी के इनपुट्स के साथ)

Tags: Petrol-Diesel, Uttarakhand news



Source link

more recommended stories