UP: योगी सरकार का बड़ा एक्शन, अल्पसंख्यक विभाग के संयुक्त निदेशक एसएन पांडेय को किया निलंबित


लखनऊ. भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस पर काम कर रही यूपी की योगी सरकार (Yogi Government) ने एक बार फिर बड़ा एक्शन लिया है. अल्पसंख्यक कल्याण विभाग में वर्षों से अपनी पैठ जमाए संयुक्त निदेशक शेषनाथ पांडे को कैबिनेट मंत्री धर्मपाल सिंह ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. शेषनाथ पांडे के खिलाफ वित्तीय अनियमितता और विभागीय कार्यों में लापरवाही के गंभीर आरोप लगे हैं. उधर, मंत्री के कार्रवाई के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म है.

अल्पसंख्यक कल्याण वक्फ और हज मंत्री धर्मपाल सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक (तत्कालीन रजिस्ट्रार) एसएन पांडेय को वित्तीय अनियमितता के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि संयुक्त निदेशक पर लगे आरोपों की जांच के लिए सचिव एवं निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग डाॅ. रोशन जैकब को नामित किया गया है. बता दें कि अल्पसंख्यक कल्याण विभाग में जमे एसएन पांडेय पहले भी कई बार सुर्खियों में रह चुके हैं.

Covid-19: कोरोना फिर से होने लगा घातक, गाजियाबाद में संक्रमित 15 साल के लड़के की मौत

संयुक्त निदेशक पांडेय पर वित्तीय अनियमितता और अन्य शिकायतों के चलते योगी सरकार का हंटर पहले भी चल चुका है. उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद के रजिस्ट्रार पद पर आसीन एसएन पांडेय को कुछ वक्त पहले ही कुर्सी से बेदखल किया गया था, वहीं एक बार फिर उनके खिलाफ कार्रवाई की गई है. गौरतलब है कि अपने 100 दिन के कामकाज का लेखा-जोखा प्रस्तुत करने के दौरान कैबिनेट मंत्री ने यह स्पष्ट किया था कि विभाग में भ्रष्टाचार और काम के प्रति लापरवाही पर सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति रहेगी. बयान के कुछ घंटों के अंदर एसएन पांडे पर विभागीय मंत्री धर्मपाल सिंह ने कड़ा एक्शन ले लिया.

Tags: Bjp government, CM Yogi, Cm yogi on corruption, Lucknow news, UP news, Yogi government



Source link

more recommended stories