UP Top 5 News: अग्निपथ योजना के खिलाफ यूपी में प्रदर्शन, जुमे की नमाज को लेकर शिया वक्फ बोर्ड ने उठाया ये कदम


लखनऊ. केंद्र सरकार की ‘अग्निपथ’ योजना के विरोध में गुरुवार को उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में युवाओं ने प्रदर्शन किया. इसकी वजह से वाराणसी रेल मण्डल के विभिन्न खण्डों की करीब 21 रेलगाड़ियों का संचालन प्रभावित हुआ. इस दौरान अलीगढ़-गाजियाबाद हाईवे पर रास्ता जाम किया, तो बलिया में युवाओं के प्रदर्शन के कारण स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस को रोकना पड़ा. वहीं, फिरोजाबाद और बुलंदशहर में नौजवानों ने सड़क पर उतरकर नारेबाजी की. इसके अलावा मेरठ, आगरा, गोंडा समेत यूपी के कई शहरों में युवाओं ने प्रदर्शन किया है.

पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा जारी बुलेटिन के मुताबिक ‘अग्निपथ योजना’ के खिलाफ धरना-प्रदर्शन के कारण वाराणसी मण्डल के गोरखपु-छपरा, छपरा-बलिया, सीवान-थावे, छपरा-मसरख-थावे, वाराणसी-गाजीपुर और वाराणसी-प्रयागराज रेल खण्डों पर 21 रेलगाड़ियों का संचालन ठप हो गया, जो समाचार लिखे जाने तक शुरू नहीं हो सका.

उल्लेखनीय है कि सरकार ने दशकों पुरानी रक्षा भर्ती प्रक्रिया में आमूल-चूल परिवर्तन करते हुए तीनों सेनाओं में सैनिकों की भर्ती संबंधी ‘अग्निपथ’ योजना की मंगलवार को घोषणा की थी, जिसके तहत सैनिकों की भर्ती चार साल की लघु अवधि के लिए संविदा आधार पर की जाएगी. योजना के तहत तीनों सेनाओं में इस साल करीब 46,000 सैनिक भर्ती किए जाएंगे. चयन के लिए पात्रता आयु साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष के बीच होगी और इन्हें ‘अग्निवीर’ नाम दिया जाएगा.

मस्जिदों में ना हो सौहार्द बिगाड़ने वाली तकरीर : शिया वक्फ बोर्ड
उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने उसके अधीन आने वाली सभी मस्जिदों में आपसी सौहार्द और शांति व्यवस्था बिगाड़ने वाला कोई भी बयान या तकरीर देने और नमाज के अलावा किसी भी तरह की भीड़ एकत्र करने पर पाबंदी लगा दी है. बोर्ड के कार्यवाहक प्रशासनिक अधिकारी सैयद हसन रजा रिजवी ने बृहस्पतिवार को जारी आदेश में बोर्ड में पंजीकृत सभी वक्फ संपत्तियों के मुतवल्लियों (प्रबंधकों), प्रबंध समितियों तथा प्रशासकों से कहा गया है कि वे अपने-अपने प्रबंधन वाली मस्जिदों में नमाज, खास तौर पर जुमे की नमाज में ऐसा कोई भी खुत्बा (भाषण) या कोई ऐसा बयान नहीं होने दें जिससे आपसी सौहार्द और शांति व्यवस्था बिगड़ने की आशंका हो.

आदेश में यह भी कहा गया है कि मस्जिदों में नमाज के अलावा किसी भी तरह का कोई जलसा (सभा) आयोजित न किया जाए और ना ही भीड़ एकत्र होने दी जाए. इस आदेश की एक प्रति प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों और पुलिस प्रमुखों को भी भेजी गई है. बोर्ड के अध्यक्ष अली जैदी ने बताया कि पिछली 10 जून को देश के विभिन्न राज्यों में जुमे की नमाज के बाद हुए उपद्रव से उपजे हालात के मद्देनजर यह आदेश जारी किया गया है. उन्होंने बताया कि यह व्यवस्था अगले आदेशों तक लागू रहेगी.

ग्रेटर नोएडा में अवैध बार का भंडाफोड़
उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में पुलिस ने एक अवैध लग्जरी बार का भंडाफोड़ किया है जिसका संचालन कथित रूप से गुप्त तरीके से एवं मुख्य तौर पर भारत में रह रहे चीनी नागरिकों के लिए किया जाता था. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घरबारा गांव स्थित तीन मंजिला इस इमारत का मंगलवार रात पता लगाया गया. अधिकारी ने बताया कि इसके आंतरिक हिस्से में पारंपरिक चीनी शैली में डिजाइन बनाये गए थे. अधिकारी के अनुसार यह कार्रवाई एक चीनी नागरिक की गिरफ्तारी के बाद हुई है जो 2020 से अवैध रूप से भारत में रह रहा था.जांच के बारे में जानकारी रखने वाले अधिकारी ने कहा, ‘इमारत में सब कुछ चीनी शैली में डिजाइन किया गया था. इसके बार और रेस्तरां में चीजों के नाम चीनी लिपि में लिखे थे और कहीं भी हिंदी या अंग्रेजी का कोई उल्लेख नहीं था. ऐसा संदेह है कि मादक द्रव्यों के सेवन जैसी अवैध गतिविधियां भी वहां जारी थीं. तीन मंजिला इमारत में ज्यादातर चीनी नागरिक आगंतुक और मेहमान होते थे. भारतीयों में पूर्वोत्तर के कुछ लोग भी इस जगह पर आते थे जो ग्रेटर नोएडा के इस गांव में गुपचुप तरीके से चलाई जा रही थी. आबकारी विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि उन्होंने कभी-कभार पार्टी लाइसेंस के लिए आवेदन किया था, लेकिन वह अतीत की बात है। हाल के दिनों में उनके द्वारा कोई लाइसेंस परमिट नहीं मांगा गया था. चीनी नागरिक शूई फेई उर्फ ​​केलय (36) और उसकी भारतीय प्रेमिका एवं नगालैंड की रहने वाली 22 वर्षीय पेटेख्रीनुओ को सोमवार को उत्तर प्रदेश की गौतम बुद्ध नगर पुलिस ने हरियाणा के गुरुग्राम के एक होटल से गिरफ्तार किया था.

राहुल गांधी से ईडी की पूछताछ के खिलाफ कांग्रेस का घेराव
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से नेशनल हेराल्ड से जुड़े कथित धनशोधन के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस के लखनऊ के राजभवन ‘घेराव’ कार्यक्रम के मद्देनजर पुलिस ने बृहस्पतिवार को पार्टी के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय के सामने अवरोध लगाकर जिला पुलिस ने राजभवन की ओर जुलूस के रूप में निकले पार्टी कार्यकर्ताओं को रोका, इस पर कार्यकर्ता नारे लगाते हुए अवरोधक (बैरिकेड्स) पर चढ़ने की कोशिश करने लगे. बाद में पुलिस ने उनमें से कई को हिरासत में ले लिया. इसके अलावा पार्टी की डिजिटल मीडिया के संयोजक और प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने दावा किया कि पार्टी विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा और वरिष्ठ नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी को सुबह से ही उनके घरों में नजरबंद कर दिया गया है. भाजपा सरकार पर लोकतंत्र की आवाज दबाने का आरोप लगाते हुए अवस्थी ने कहा, ‘कांग्रेस के केंद्रीय कार्यालय में पुलिस के घुसने और पार्टी कार्यकर्ताओं की पिटाई करने से ज्यादा अनैतिक क्या हो सकता है और जब यहां पार्टी के लोग इसका विरोध करने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें मनमानी कार्रवाई के खिलाफ अपनी आवाज उठाने की भी अनुमति नहीं दी जाती है.

जाली वीजा व पासपोर्ट के जरिए नेपाल जाने की कोशिश कर रहा अमेरिकी नागरिक गिरफ्तार
फर्जी वीजा और पासपोर्ट के आधार पर नेपाल जाने की कोशिश कर रहे एक अमेरिकी नागरिक को यूपी के महाराजगंज में गिरफ्तार किया गया है.पुलिस ने बताया कि करीब सात साल से अवैध तरीके से भारत में रह रहे 51 वर्षीय अमेरिकी नागरिक एलन बायडे नॉक्स को बुधवार शाम गिरफ्तार किया गया. सौनौली के थाना प्रभारी मनोज कुमार राय ने बताया कि नॉक्स मुंबई से आया था और बुधवार शाम को सनौली से नेपाल जाने की कोशिश कर रहा था, लेकिन आव्रजन विभाग के अधिकारियों ने उसके वीजा और पासपोर्ट को जाली पाया जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया. महाराजगंज जिले में सोनौली, भारत-नेपाल सीमा पर स्थित है. राय ने बताया कि उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता एवं विदेश अधिनियम की संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. स्थानीय खुफिया इकाई के अधिकारी ने बताया कि खुफिया ब्यूरो को मामले की सूचना दे दी गई है और उससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस के अनुसार, विदेशी नागरिक 27 जून 2015 को भारत आया था और इसके बाद वह कई बड़े शहरों में रुका.

Tags: UP latest news, UP news, Uttar pradesh news



Source link

more recommended stories