UP: भेड़ के बच्चे को बचाने निकले थे, अपनी ही जान गवां बैठे, चाचा-भतीजे की मौत


मथुरा. उत्तर प्रदेश के मथुरा में गोवर्धन के गांव मुड़सेरस में बोरवेल में गिरे भेड़ के बच्चे को बचाने बोरवेल के कुआं में उतरे चाचा-भतीजे की दम घुटने से मौत हो गई. घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से रेस्क्यू कर मृतकों के शव कुआं से बाहर निकलवाकर मोर्चरी भेज दिए हैं. घटना से गांव में मातम छाया हुआ है.

दरअसल, गांव मुड़ सेरस निवासी सरमन (55) और उनका भतीजा धर्म सिंह (22) जंगल में भेड़ चराने गए थे. बरसात आने पर चाचा-भतीजा भेड़ों को लेकर शाम के समय घर आ रहे थे. रास्ते में बोरवेल में एक भेड़ का बच्चा गिर गया. बच्चे को निकालने के लिए धर्म सिंह बोरवेल में उतर गया, जब वह वापस नहीं निकला तो सरमन भी उतरा. रास्ते से गुजर रहे लोगों ने देखा तो घटना की जानकारी ग्रामीणों को दी।.

सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष नितिन कसाना पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे. पुलिस कर्मियों ने ग्रामीणों की मदद से रेस्क्यू कर दो घंटे की मशक्कत कर बाद धर्म सिंह व सरमन को बाहर निकालकर सीएचसी भेजा, जहां चिकित्सक डॉ. सचिन शर्मा व डॉ. वीएस सिसौदिया ने मेडिकल परीक्षण के उपरांत मृत घोषित कर दिया. सीओ राम मोहन शर्मा ने बताया कि भेड़ चराकर लौटते समय चाचा- भतीजे की बोरवेल में दम घुटने से मौत हुई है. शवों का पोस्टमार्टम कराया है. फिलहाल गांव में घटना के बाद से मातम पसरा हुआ है.

Tags: Mathura police, UP police, मथुरा



Source link

more recommended stories