उदयपुर की घटना पर बोले मौलाना यासूब: ‘कत्ल करना मोहम्मद साहब वाला इस्लाम नहीं तालिबानी सोच है’


लखनऊ. राजस्थान के उदयपुर में बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट डालने के आरोप में टेलर कन्हैयालाल साहू की हत्या के बाद सनसनी है. इस घटना के बाद मौलाना यासूब अब्बास जनरल सेक्रेटरी ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड का बड़ा बयान भी सामने आया है. शिया पर्सनल लॉ बोर्ड हत्यारोपियों की निंदा करते हुए इसे तालिबानी सोच से जोड़ दिया है. मौलाना यासूब अब्बास ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि किसी का कत्ल करना मोहम्मद साहब वाला इस्लाम नहीं बल्कि तालिबानी सोच है. इस्लाम कत्ल की इजाजत नहीं देता है.

ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के जनरल सेक्रेटरी मौलाना यासूब अब्बास ने कहा कि ‘हमारे देश में तालिबानी सोच रखने वालों ने देश में ऐसी पहली घटना को अंजाम दिया है, इसकी जितनी भी निन्दा की जाए वो कम है. इस्लाम कहता है जिसने इंसान की जान बचाई उसने पूरी इंसानियत की जान बचाई. बड़े अफसोस की बात है कि ये चेहरे पर दाढ़ी रखे हुए हैं. ये वही तालिबानी सोच के लोग हैं, जिन्होंने चेहरे पर दाढ़ी तो रख ली है. लिबास से इसलामी लग रहे हैं, मुसलमान लग रहे हैं मगर इनका दूर दूर तक इस्लाम से कोई ताल्लुक नहीं है. ये कत्ल करते हैं तो अल्ला हू अकबर कहते हैं. तो इसका मतलब है है ये उसी नस्ल से हैं जिन्होंने करबला में इमाम हुसैन को 1400 साल पहले शहीद करके अल्ला हू अकबर के नारे लगाए थे.’

उन्होंने कहा कि देश में ऐसी मानसिकता रखने वाले लोगों पर सख़्त लगाम लगना बहुत ज़रूरी है. उन्होंने कहा कि टेलर कन्हैयालाल की हत्या करने वालों को कड़ी से कड़ी सज़ा मिलनी चाहिए. इस घटना के बाद मैं हिंदू और मुसलमान दोनों से अपील करते हैं कि वह इस देश की एकता और अखंडता बनाए रखें. ऐसे हाथों को तोड़ दो जो हमारे देश की हिन्दू, मुस्लिम एकता को तोड़कर भाई को भाई से जुदा करने की कोशिश करे.

Tags: Lucknow news, Udaipur news, UP news



Source link

more recommended stories