The world of humanity sitting on the mine is coming to an end | धमाके में पैर गंवाने के बाद शायद यही है मासूम फरियाद। एक पैर गंवाकर, पैरों पर खड़े होने की कोशिश



डिजिटल डेस्क, काबुल। दशकों से जंग का अड्डा बने अफगानिस्तान के जख्म अभी भरे नहीं। आतंकवाद के तौर पर  उभरे अफगानिस्तान पर सोवियत सेना और अमेरिका ने बम बरसाए। जो आज भी अफगानिस्तान में पड़े हुए है  जिनके संपर्क में आने पर कई लोगों को हादसे का शिकार होना पड़ रहा है।

बारूदी सुरंगों की ढेर पर बैठा अफगानिस्‍तान मासूम बच्‍चों के लिए एक तरह से काल बनता जा रहा है। बड़ी संख्‍या में बिना फटे बम इधर-उधर ब‍िखरे हुए हैं। बारूद बच्चों की न केवल मासूमियत बल्कि उनके हरे भरे जीवन को भी छीन रहा है। दुनिया में अपने दबदबे को लेकर कई आतंकी संगठन से लेकर बड़े बड़े हुक्मरान देश अपनी अपनी शक्ति का प्रदर्शन करने और महाशक्ति बनने में लगे हुए है। बारूदों की दुनिया में डर और चिंता इस बात की दुनिया में ब्लास्ट कहीं भी हों इंसान किसी भी धर्म देश का जख्मी या हतायत या घायल हो लेकिन सबसे पहले मरती है तो इंसानियत और मानवता बता दें कि आईसीआरसी ऐसे लोगों की मदद कर रहा है जिन्‍हें बारूदी सुरंगों की चपेट में आकर अपना पैर गंवाना पड़ा है।

लैण्डमाइन्स मॉनीटर 2021 नामक इस रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2020 के दौरान बारूदी सुरंगों की चपेट में आकर  घायल होने वाले लोगों की संख्या में 20 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। इसके लिये सशस्त्र संघर्षों में वृद्धि और बहुत सी ज़मीनों में बारूदी सुरंगें बिछी होने को जिम्‍मेदार ठहराया गया है। रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2020 के दौरान 54 देशों और अन्य इलाक़ों में कुल मिलाकर सात हज़ार से भी ज़्यादा लोगों की मौत हुई है। इनमें अफगानिस्‍तान भी शामिल है हादसों के शिकार  ऐसे बच्चे भी हो रहे हैं जो अभी चलना सीख ही रहे हैं। जिसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी शेयर किया जा रहा है।

आईसीआरसी ने एक वीडियो को जारी किया है  जो बम विस्‍फोट में अपने एक पैर गंवाने वाले मासूम बच्‍चे का है। यह वीडियो अफगानिस्‍तान का बताया जा रहा है। वीडियो में एक मासूम बच्‍चे का दाहिना पैर बारूदी सुरंगों की चपेट में आकर बम ब्लास्ट में उड़ गया है। अब वह कृत्रिम पैर की मदद से चलने की कोशिश कर रहा है। बच्चा कभी डॉक्टर तो कभी वाकर की सहायता से चल पाता है।  वीडियो में बच्चा काफी उदास नजर आ रहा है। पहला कदम उठाकर चल पड़ने की खुशी उसके मासूम चेहरे से गायब सी है।

मासूम बच्चे के वीडियो को देखकर लोगों की आंखों से आंसू आ रहे हैं और वहीं वे बच्‍चे के जज्‍बे को सलाम कर रहे हैं। साथ ही युद्ध को जमकर कोस रहे हैं और दुनिया से अपील कर रहे हैं कि युद्ध को बंद करें।

 



Source link

more recommended stories