Telecom : बरेली में 1 लाख थे लैंडलाइन कनेक्शन, रह गए 3500! वजह भी जानिए, BSNL का नया प्लान भी


रिपोर्ट – अंश कुमार माथुर

बरेली. मोबाइल युग ने लैंडलाइन फोन को तकरीबन अंत की ओर लाकर खड़ा कर दिया है. भारत दूरसंचार निगम लिमिटेड के आंकड़े भी अब इसकी गवाही दे रहे हैं. बरेली क्षेत्र में महज 3.5 हजार कनेक्शन ही लैंडलाइन फोन के बचे हैं. भारत संचार निगम लिमिटेड के महाप्रबंधक अनिल कुमार ने बताया कि धीरे-धीरे लैंडलाइन फोन कनेक्शन, मोबाइल फोन आने के बाद बंद हो रहे हैं. बीएसएनएल अपनी इस लैंडलाइन योजना को समेटना शुरू कर रहा है. पहले चरण में बीएसएनएल के खंभे हटाने का टेंडर जारी कर दिया है और अब बहुत जल्द शहर से लैंडलाइन के खंभे कुछ दिनों बाद हट जाएंगे.

कनेक्टिंग इंडिया टैगलाइन के साथ देशवासियों को भारत दूरसंचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) ने लैंडलाइन का विशाल सूचना तंत्र मुहैया कराया था. वहीं लैंडलाइन फोन अब धीरे-धीरे अतीत का हिस्सा बनते जा रहे हैं. दूरसंचार क्षेत्र में लगातार युद्ध स्तर पर होते गए बदलाव के चलते अब चंद घरों और कार्यालयों में ही लैंडलाइन फोन रखे हुए नजर आते हैं. बीएसएनल के इस लैंडलाइन फोन की संख्या तेजी से साल दर साल गिरती चली गई, इसका सबूत देखिए.

97 हजार से अधिक लैंडलाइन कनेक्शन खत्म

बरेली के आंकड़ों की बात कर ली जाए तो 10 साल पहले एक लाख से अधिक लैंडलाइन कनेक्शन थे. जब स्मार्टफोन की चकाचौंध नजर आई तो उसके बाद लगभग 10 लाख से अधिक आबादी वाले बरेली शहर में लैंडलाइन फोन के 3.5 हजार कनेक्शन ही बचे हैं. 10 साल पहले जिले में जगह-जगह पोल लगाए गए थे. वक्त के साथ कनेक्शन बंद होते चले गए और शहर में लगे यह पोल यातायात में बाधा बन रहे हैं. अब इन्हें हटाने के निर्देश भारत दूरसंचार निगम लिमिटेड के महाप्रबंधक अनिल कुमार ने जारी कर दिए है.

Tags: Bareilly news, BSNL



Source link