Street Food: मुजफ्फरनगर जाएं तो यहां के छोले भटूरे खाएं, सालों नहीं भूलेंगे 50 साल पुराना स्वाद


रिपोर्ट – अनमोल कुमार

मुज़फ्फरनगर. ‘भूख नहीं है, मन नहीं है, अभी टाइम नहीं है…’ ऐसे कारण टिक नहीं पाते, जब आप मुज़फ्फरनगर में हों और वैष्णो छोले भटूरे की दुकान से आ रही गंध आप तक पहुंच जाए. खाने-पीने के शौकीन जानते हैं कि स्वादिष्ट छोले भटूरे के लिए उन्हें कहां जाना है. मुज़फ्फरनगर नगर की यह दुकान तबसे है, जब मात्र 25 पैसे में छोले भटूरे की प्लेट मिलती थी और आज एक प्लेट की कीमत ₹60 की बिकती है. अगर आप मुज़फ्फरनगर में आकर यहां के छोले भटूरे नहीं खा सके हैं, तो आपकी यात्रा पूरी नहीं हुई.

झांसी की रानी चौक के पास वैष्णो छोले भटूरे वाले के नाम की इस दुकान को 50 साल से भी ज्यादा वक्त हो चुका है. सालों से यहां की शोहरत यही है कि खाते ही लोग वाहवाही करते नज़र आते हैं. यह दुकान सुबह 8 बजे खुलती है और रात को 9 बजे तक आप स्वाद ले सकते हैं. इस दौरान यहां भारी भीड़ भी रहती है. खास बात यह है कि जो कारीगर यहां शुरूआत में थे, वही आज भी हैं.

न कारीगर बदले न ज़ायका

News 18 लोकल की टीम ने इस दुकान के मालिक मालिक सागर से बातचीत की तो उन्होंने बताया ‘यह दुकान मेरे दादाजी ने शुरू की थी. फिर मेरे पिताजी ने संभाली और आज मैं भी पिताजी के साथ यहां काम संभालता हूं. हमें यह दुकान शुरू किए 50 साल से भी ऊपर हो चुके हैे. हमारे यहां एक प्लेट की कीमत हमेशा दौर के हिसाब से रही, पर आज की महंगाई के मद्देनज़र अब हम प्लेट ₹60 में बेचते हैं.’

सागर ने बताया कि एक प्लेट में दो भटूरे, छोले, चार और सलाद दिया जाता है. रायता अलग से दिया जाता है. दुकान पर सुबह नाश्ते की व्यवस्था भी है. नाश्ते में सुबह ग्राहकों को आलू पूरी भी दी जाती है. उनके मुताबिक कुछ ग्राहक परमानेंट हैं, जो रोज़ यहीं नाश्ता करते हैं. दुकान पर छोले भटूरे खा रहे ग्राहक दीपक बालियान ने बताया ‘मैं पिछले 15 सालों से लगातार यहां छोले भटूरे खा रहा हूं और कमाल की बात है कि स्वाद वैसा का वैसा ही है. मैं हमेशा इसी दुकान पर छोले भटूरे खाता हूं.

Tags: Muzaffarnagar news, Street Food



Source link