शुरुआती बारिश में ही उफनाई राप्ती नदी: जलस्तर खतरे के निशान से 60 सेंटीमीटर ऊपर, प्रशासन अलर्ट


श्रावस्ती. उत्तर प्रदेश के कई जिलों में मानसून ने दस्तक दे दी है. यूपी की कई नदियों को भरने के लिए अभी बारिश की दरकार है तो वहीं पर्वतीय क्षेत्रों में हुई बारिश ने राप्ती नदी को भर दिया है. पहाड़ों पर हो रही बारिश से राप्ती ने भी अपना विकराल रूप धारण कर लिया है. जहां राप्ती अपने सामान्य जल स्तर 127.70 पर बहती थी तो वहीं इस वक्त राप्ती 128.30 पर बह रही है. नदी का यह बहाव खतरे के निशान से 60 सेंटीमीटर ऊपर है. नदी का जल स्तर बढ़ने से तटवर्ती गांव के लोग सहम गए हैं. प्रशासन ने भी तटीय क्षेत्र के गांव में अलर्ट कर दिया है.

जानकारी के अनुसार राप्ती नदी नेपाल से निकल कर श्रावस्ती पहुंचती है. हाल ही में हुई बारिश ने राप्ती नदी के जल स्तर में खासा इजाफा किया है. इस वक्त राप्ती खतरे के निशान से 60 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है. नदी का जलस्तर बढ़ने से तट पर बसने वाले कई गांव में के लोगों में डर देखा जा रहा है. वहीं नदी में बाढ़ के हालातों से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं.

जिला प्रशासन ने किए राहत के पहले से इंतजाम
जिलाधिकारी नेहा प्रकाश की मानें तो राप्ती का जल स्तर बढ़ रहा है और इसे देखते हुए बाढ़ से निपटने के लिए इस बार पहले से ही पूरी तैयारी कर ली गई है. बिजली सप्लाई से लेकर राहत लोगों तक राहत पैकेज पहुंचाने की तैयारियां की जा रही हैं. वहीं पशुओं के लिए भी खासतौर की व्यवस्था की गई है, जिससे किसी प्रकार की कोई पशु हानि ना होने पाए.

कई जगह बाढ़ राहत चौकियां
राप्ती नदी के खतरे के निशान को छूने के बाद जगह जगह बाढ़ राहत चौकी बनाई गई हैं जो पूरी तरीके से अलर्ट हो गई हैं. जानकारी के मुताबिक पिछले साल राप्ती नदी ने काफी तांडव मचाया था, जिससे कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गये थे. जिला मुख्यालय भिनगा तथा जमुनहा तहसील मुख्यालय की रोड कई जगह कट जाने से संपर्क टूट चुका था. प्रशासन ने पिछले साल की समस्याओं से सबक लेते हुए इस बार पहले से चौकस तैयारी शुरू कर दी है. ग्रामीणों को अलर्ट कर दिया गया है.

Tags: Shravasti News, UP floods, UP news, Weather Alert



Source link

more recommended stories