शिवपाल यादव बोले- BJP को हराने के लिए सपा-बसपा से गठबंधन को तैयार


BJP को हराने के लिए सपा-बसपा से गठबंधन को तैयार (File photo)

शिवपाल (Shivpal) ने नए कृषि कानून का विरोध करते हुए आरोप लगाया कि मोदी सरकार उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए कानून बना रही है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 19, 2021, 8:11 PM IST

बलिया. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्‍यक्ष शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने मंगलवार को बलिया (Ballia) में बड़ा बयान दिया है. शिवपाल सिंह यादव ने बलिया जिले के सहतवार में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विधान परिषद चुनाव में उनकी पार्टी बीजेपी को वोट नहीं करेगी. उन्होंने कहा कि हम सपा-बसपा से गठबंधन करने को तैयार हैं. हम लोग बीजेपी को हराने के लिए समाजवादी, गांधीवादी विचारधारा की पार्टियों से गठबंधन कर रहे हैं. राजनीति में उनका सिद्धांत है संघर्ष के साथ त्याग. वह नई सरकार बनाने के लिए त्याग करेंगे.

शिवपाल यादव आज स्व.बद्रीनाथ सिंह की 19वीं पुण्यतिथि कार्यक्रम में शिरकत करने बलिया पहुंचे थे. शिवपाल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि किसान विरोधी कानूनों का हम विरोध करेंगे. उन्होंने कहा कि सरकार को नए कृषि कानूनों को फौरन वापस लेना चाहिए. बीजेपी ने कोई वादा पूरा नही किया है. क्योंकि बीजेपी ने जनता से सिर्फ झूठ बोला है.

UP: बसपा के पूर्व महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी व राम अचल राजभर गिरफ्तार, भेजे गए जेल

उन्होंने कहा, “मेरा नारा भाजपा को उखाड़ फेंकने के लिए गैर भाजपावाद का है. सभी दल इकट्ठा होकर ही भाजपा को हटाने में कामयाब हो सकते हैं.” एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी को लेकर पूछे गये सवाल पर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. शिवपाल ने कहा कि जब उनकी सभी दलों व नेताओं से बातचीत होगी तभी वह इस बारे में कुछ कहेंगे.वेब सीरीज “तांडव” को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए. शिवपाल ने नए कृषि कानून का विरोध करते हुए आरोप लगाया कि मोदी सरकार उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए कानून बना रही है. उन्होंने सभी क़ानूनों को वापस लेने की मांग की. बता दें कि पिछले दिनों समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने कहा था, ‘2022 के विधान सभा चुनाव में शिवपाल सिंह यादव से गठबंधन के लिए वह तैयार हैं. सरकार बनने पर उन्‍हें मंत्री भी बनाएंगे. उनके अलावा अगर कोई जीतने लायक उनका उम्‍मीदवार होगा तो उसके लिए भी गठबंधन में सीट छोड़ेंगे. (रिपोर्ट- मनीष मिश्रा)






Source link