‘शिवलिंग’ को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करना शख्स को पड़ा महंगा, देवरिया से पकड़ लाई पुलिस


ग्रेटर नोएडा. उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में एक बड़ी खबर सामने आई है. ज्ञानवापी मस्जिद मामले में विवादित ट्वीट करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी ने ज्ञानवापी मस्जिद में मिले कथित शिवलिंग को लेकर अभद्र टिप्पणी की थी. उसने ट्वीट कर एक धर्म की भावनाओं को आहत किया था. साथ ही उसने अपने ट्वीट से सामाजिक सौहार्द बिगड़ने की भी कोशिश की थी. कहा जा रहा है कि आरोपी को देवरिया से गिरफ्तार किया गया है. कासना थाना पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है.

जानकारी के मुताबिक, आरोपी शख्स की पहचान ग्रेटर नोएडा के रहने वाले अतिउर रहमान खान के रूप में की गई है. उसने ज्ञानवापी परिसर में शिवलिंग मिलने के दावे को लेकर सोशल मीडिया पर भड़काऊ तथा आपत्तिजनक पोस्ट लिखा था. इसके बाद पुलिस ने उसे खिलाफ मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी थी. पुलिस प्रवक्ता ने बताया था कि भड़काऊ एवं आपत्तिजनक पोस्ट लिखने वाले युवक की पहचान ग्रेटर नोएडा के रहने वाले अतिउर रहमान खान के रूप में की गई है. उन्होंने बताया था कि नोएडा की कासना थाना पुलिस ने इस मामले में उसके खिलाफ केस दर्ज किया है.

सोशल मीडिया पोस्ट के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था
बता दें कि इससे पहले रविवार को शिवलिंग के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर रतन लाल को पुलिस ने गिरफ्तार किया गया था.  हाल ही में उन्होंने खुद की सुरक्षा के लिए पीएम नरेंद्र मोदी से एके 56 दिए जाने की मांग की थी. उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने के कुछ दिनों बाद, दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदू कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर रतन लाल को कथित रूप से आपत्तिजनक सोशल मीडिया पोस्ट के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था. जिसमें वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद में एक शिवलिंग पाए जाने के दावों का जिक्र है. हालांकि,  प्रोफेसर रतन लाल को उसी दिन शाम को अदालत से 50 हजार रुपये के मुचलके और इतनी ही राशि की जमानत पर जमानत मिल गई थी.

Tags: Arrest, Gyanvapi Mosque, Noida news, Uttar pradesh news



Source link

more recommended stories