सेल्फी के चक्कर में बैराज से आईआईटी छात्रा की गंगा में गिरकर मौत

कानपुर। नवाबगंज इलाके में स्थित गंगा बैराज में सेल्फी लेते समय आईआईटी की छात्रा नदी में गिर गई। घटना देख गोताखोरों ने छात्रा को निकाला और पुलिस ने उसे हैलट अस्पताल पहुंचाया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस मामले में आईआईटी प्रबंधन द्वारा दुख जताया गया है। जानकारी के मुताबिक, राजस्थान के भीलवाड़ा स्थित बदनौर थाना क्षेत्र में रहने वाली सेजल जैन कानपुर आईआईटी में पृथ्वी विज्ञान विभाग में बीएस द्वितीय वर्ष की छात्रा थी। छात्रा अपने छह साथी छात्रों के साथ गंगा बैराज घूमने गई थी। यहां पर वह गेट नंबर 05 के पास छोटे शटर को उठा कर रेलिंग के अंदर चली गईं। रेलिंग को पार कर जोखिम भरे बैराज की रैप पर पहुंचकर वह सेल्फी लेते समय

गंगा में गिर गई। मामले की जानकारी साथी छात्राओं ने संस्थान के सुरक्षा नियंत्रण कक्ष को इसकी जानकारी दी। संदेश प्राप्त होते ही तुरंत नवाबगंज पुलिस स्टेशन से संपर्क किया गया और पुलिस टीम मौके पर पहुंची। पुलिस की एक खोजी टीम नदी में गई और जिसने छात्रा सेजल

जैन को डूबी हुई और अचेत अवस्था में पाया। इस बीच, संस्थान के सुरक्षा अधिकारी और वेदांत सिक्का (अध्यक्ष, संस्थान छात्र जिमखाना) मौके पर पहुंचे। सेजल को एम्बुलेंस में हैलट अस्पताल ले जाया गया, जहां पर जांच के बाद आपातकालीन ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले की जानकारी छात्रा के परिजनों को दी गई। रविवार को छात्रा का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को आईआईटी प्रबंधन व

मृतक छात्रा के परिजनों को सौंप दिया गया। इस मामले में आईआईटी प्रबंधन द्वारा एक पत्र जारी कर बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला कि छात्रा सेजल जैन 07 अन्य छात्रों के साथ गंगा बैराज घूमने गई थीं। यात्रा के दौरान सेजल जैन सहित कुछ छात्र पुल की सुरक्षा रेलिंग को पार कर बैराज गेट के रैंप की ओर पहुंच गए थे। छात्रा सेजल ने कौतूहलवश अकेले ही अंधेरे में खतरे के क्षेत्र को पार किया और गलती से खुली जगह से फिसल कर बैराज के पानी में गिर गई और डूब गई। दुखद हादसे में हम एक युवा और उज्ज्वल दिमाग के असामयिक नुकसान पर शोक व्यक्त करते हैं और प्रार्थना करते हैं कि भगवान उनके परिवार और दोस्तों को इस नुकसान को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

more recommended stories