सीतापुर: ADG पीटीसी जकी अहमद और IPS शफीक अहमद पर लगे गंभीर आरोप, जानें क्या है पूरा मामला?


सीतापुर. यूपी के सीतापुर में पीटीसी में तैनात आईपीएस अधिकारी शफीक अहमद सहित एडीजी जकी अहमद पर कर्मचारियों ने गंभीर आरोप लगाए हैं. कर्मचारियों ने IPS शफीक अहमद पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. इतना ही नहीं, इस पूरे मामले को लेकर प्रताड़ित कर्मचारियों ने सीएम योगी आदित्यनाथ से भी न्याय की गुहार लगाई है. वहीं एडीजी जकी अहमद पर भी संरक्षण देने का आरोप लगा है.

छह साल से जमे हैं IPS शफीक अहमद
निलंबित कर्मचारियों का आरोप है कि आईपीएस शफीक अहमद पिछले 6 सालों से लगातार पीटीसी में तैनात हैं. जिनके द्वारा हिंदू कर्मचारियों का लगातार उत्पीड़न किया जा रहा है. निलंबित सिपाहियों का कहना है कि आईपीएस सफीक अहमद के द्वारा हिंदू कर्मचारियों से जबरन मीट बनवाया जाता है, ना बनाने वाले कर्मचारियों का निलंबन कर उत्पीड़न किया जाता है. निलंबित कर्मचारियों का यहां तक आरोप है कि एडीजी जकी अहमद की पोस्टिंग होने के बाद इन मुस्लिम अधिकारियों को पूरा संरक्षण प्राप्त हो गया है. जिसके बाद पीटीसी के अंदर जात-पात का भेदभाव किया जा रहा है.

कानपुर में एडीजी जकी अहमद पर लगे थे गंभीर आरोप
आपको बता दें कि कानपुर में एडीजी जकी अहमद की तैनाती के दौरान 53 हिंदू कर्मचारियों ने भी गंभीर आरोप लगाए थे, जिसके बाद पीएमओ से एडीजी जकी अहमद की जांच कराई जा रही है. कर्मचारियों के आरोप इतने गंभीर हैं इसके बावजूद इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं.

सभी आरोप निराधार: ADG
वही जब इस मामले पर एडीजी पीटीसी जकी अहमद से बात की गई तो उन्होंने कैमरे के सामने बोलने से इंकार कर दिया और आफ द कैमरा बताया कि सारे आरोप निराधार हैं. मेरे पास अभी तक किसी भी मामले का कोई भी स्पष्टीकरण नहीं मांगा गया है.

Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, Sitapur news, Sitapur police, UP news



Source link

more recommended stories