Scholarships : यूपी के मदरसों में पढ़ने वाले इन छात्रों को स्कॉलरशिप नहीं देगी केंद्र सरकार


Scholarships : उत्तर प्रदेश के मदरसा स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को केंद्र सरकार स्कॉलरशिप नहीं देगी. केंद्र सरकार ने फैसला लिया है कि यूपी के मदरसा स्कूलों में पढ़ने वाले पहली से 8वीं तक के छात्रों को स्कॉलरशिप नहीं प्रदान करेगी. अभी सेंट्रल स्कॉलरशिप के तहत मदरसा स्कूलों में पढ़ने वाले पहली से पांचवीं कक्षा तक के छात्रों को केंद्र सरकार की ओर से 1000 रुपये स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है. जबकि छठवीं से आठवीं तक के छात्रों को कोर्स के अनुसार भिन्न-भिन्न धनराशि स्कॉलरशिप के तौर पर मिलती है. इसके अलावा मदरसा स्कूलों के छात्रों को मिड डे मील और फ्री किताबें भी मिलती हैं.

इससे पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने मदरसा स्कूलों के लिए स्कॉलरशिप प्रोग्राम बंद कर दी थी. केंद्र सरकार द्वारा स्कॉलरशिप रोकना नया कदम है. केंद्र सरकार के अनुसार, मदरसा स्कूलों में पहली से आठवीं तक की शिक्षा राइट टू एजुकेशन एक्ट के अंतर्गत आती है. सरकार ने कहा कि इसके तहत छात्रों को आवश्यक वस्तुएं प्रदान की जाएंगी. हालांकि स्कॉलरशिप नहीं मिलेगी. हालांकि नौवीं और 10वीं के छात्रों की स्कॉलरशिप जारी रहेगी.

2021 में 4 से 5 लाख छात्रों को मिली थी स्कॉलरशिप 

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

केंद्र सरकार ने 16558 मदरसों में पढ़ने वाले 4 से 5 लाख छात्रों को साल 2021 में स्कॉलरशिप दिया था. फिलहाल उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में मौजूद गैर मान्यता प्राप्त मदरसों की गिनती के लिए यूपी मदरसा सर्वेक्षण का निर्णय लिया था. उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, इस सप्ताह की शुरुआत में पता चला था कि यूपी में लगभग 8000 गैर मान्यता प्राप्त मदरसों में 16 लाख छात्र पढ़ते हैं. केंद्र सरकार का स्कॉलरशिप बंद करने का फैसला राज्य द्वारा 15 नवंबर को मदरसों का सर्वेक्षण पूरा करने के बाद आया है.

ये भी पढ़ें-
Sarkari Naukri 2022 : स्टाफ नर्स पद पर 2200 से अधिक वैकेंसी, महिलाओं के लिए 2000 से ज्यादा नौकरियां
JEE Main exam 2023 की डेट जल्द, पढ़ें परीक्षा से जुड़े अहम सवाल और जवाब

Tags: Education news, Scholarships, UP education department



Source link