सड़क पर तड़प रहे थे घायल रिक्शा सवार, लखनऊ डीएम ने अपनी गाड़ी से पहुंचाया अस्पताल, चालक को दिया नया रिक्शा


यतेंद्र शर्मा

लखनऊ. आए दिन देखने को मिलता है कि कुछ सरकारी अधिकारी संवेदनहीन होते जा रहे हैं. वहीं लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने एक नई मिसाल पेश की है.
अपने भ्रमण कार्यक्रम से लौट रहे जिलाधिकारी को कैंट स्थित मरीमाता मंदिर अहियामऊ के पास एक रिक्शा उल्टा पड़ा दिखाई दिया. रिक्शा चालक और रिक्शा सवार भी पास में लहूलुहान अवस्था में पड़े थे. यह देख फौरन ही डीएम अभिषेक प्रकाश ने अपनी गाड़ी को रुकवा दिया और घायलों की मदद करने में लग गए.

बताया गया है कि विजिट से लौट रहे जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कैंट स्थित मरीमाता मंदिर अहियामऊ के पास रिक्शा को पलटा देखा तो उन्होंने गाड़ी रुकवा दी. वह तुरंत अपनी गाड़ी से उतरे और वहां दर्द से तड़प रहे दोनों घायल व्यक्तियों हाल जाना. दोनों घायल व्यक्तियों में एक का नाम धनीराम आयु 55 वर्ष निवासी मोहनगंज कैंट रोड और दूसरा गुड्डू आयु 50 वर्ष निवासी पुराना किला था. जिलाधिकारी ने तत्काल दोनों घायलों को अपनी गाड़ी में बैठा कर उन्हें सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया. दोनों घायलों को डीएम ने डॉक्टरों से बात कर के उनका ईलाज सुनिश्चित कराया. दोनों ही व्यक्ति अब खतरे से बाहर हैं.

इलाज के साथ नया रिक्शा भी दिलाया
इस हादसे में रिक्शा चालक का रिक्शा पूरी तरह से टूट गया था.डीएम अभिषेक प्रकाश ने उसकी परेशानी को समझा और इलाज कराने के साथ ही उसे एक नये रिक्शे का तोहफा भी दिया. नया रिक्शा दिलाने के पीछे डीएम की सोच यही रही कि रिक्शा टूटने से उसको रोजी रोटी का संकट हो सकता है. इसीलिए उसे नए रिक्शा की व्यवस्था करके उसके घर तक पहुंचाया है ताकि उसे परिवार के भरण पोषण में कोई परेशानी न हो. डीएम के इस नेक कार्य की खूब तारीफ हो रही है.

Tags: Lucknow DM, Lucknow news, Rickshaw Accident, UP news



Source link

more recommended stories