रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने जारी किया स्वामी करपात्री महाराज के नाम डाक टिकट, बताया सनातन धर्म का सूर्य


नई दिल्ली. नई दिल्ली के साउथ ब्लाक स्थित रक्षा मंत्रालय में बुधवार को धर्मसम्राट स्वामी करपात्री महाराज पर डाक टिकट जारी किया गया. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि करपात्री महाराज के नाम से डाक टिकट जारी किया. इस अवसर पर भारत सरकार के संचार विभाग के राज्य मंत्री देबु सिंह चौहान एवं रक्षा विभाग के राज्य मंत्री अजय भट्ट भी उपस्थित रहे. साथ ही स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी व युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह भी इस मौके पर मौजूद रहे.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा कि धर्मसम्राट स्वामी करपात्री जी महाराज सनातन धर्म के सूर्य थे. उन्होंने जीवन भर समाज के गरीब वर्ग के उत्थान के लिए संघर्ष किया. वहीं, युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने बताया कि भारत सरकार ने 7 नवंबर 1966 में शहीद हुए सभी सनातनियों को सम्मान दिया है. रोहित सिंह ने कहा की करपात्री जी अखंड भारत के द्रष्टा थे.

कौन थे स्वामी करपात्री महाराज?

स्वामी करपात्री महाराज हिंदुओं के बीच बहुत सिद्ध माने जाते थे. सियासी नेताओं से लेकर शंकराचार्यों के बीच उनका बहुत सम्मान था. देश के आजाद होने के बाद उन्होंने नेहरू सरकार के हिंदू कोड बिल के खिलाफ बड़ा आंदोलन छेड़ा. बाद में उन्होंने गोरक्षा पर भी बड़ा अभियान चलाया. स्वामी करपात्री जी ने 7 नवंबर 1966 को गौ रक्षा हेतु तत्कालीन इंदिरा गांधी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था, जिसमें सैकड़ों हजारों संतों की हत्या हुई थी.

समाज में सद्भाव की स्थापना को समर्पित किया जीवन
करपात्री महाराज भारत वर्ष के सबसे वरिष्ठ संत रहे. उन्होंने अपना जीवन समाज के उत्थान और समाज में सद्भाव की स्थापना करने को समर्पित किया स्वामी करपात्री महाराज भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता के वाहक थे.

Tags: Lucknow news, New Delhi news, UP news



Source link

more recommended stories