राजस्थान की सरहद से बाहर निकला दलित छात्र की मौत का केस, मायावती ने उठाये गहलोत सरकार पर सवाल


हाइलाइट्स

राजस्थान के जालोर के सायला थाना इलाके के सुराणा गांव की है घटना
दलित छात्र की मौत के मामले में पुलिस ने आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया है

जयपुर. राजस्थान के जालोर जिले के सायला थाना इलाके में स्थित एक निजी स्कूल में टीचर की पिटाई से हुई दलित छात्र की मौत (Dalit student death case) का मामला अब राजस्थान की सरहदें पार कर गया है. इस मसले को लेकर बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (BSP chief Mayawati) ने अशोक गहलोत सरकार पर बड़ा हमला बोला है. मायावती ने राजस्थान की कांग्रेस सरकार को दलितों, आदिवासियों और उपेक्षितों की सुरक्षा करने में नाकाम बताते हुए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है.

सायला इलाके के सुराणा गांव में दलित छात्र की मौत के बाद रविवार को तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट करते हुये कहा कि ‘‘राजस्थान में आए दिन ऐसी जातिवादी दर्दनाक घटनाएं होती रहती हैं. इससे स्पष्ट है कि कांग्रेसनीत राज्य सरकार वहां खासकर दलितों, आदिवासियों एवं उपेक्षितों आदि की जान तथा मान-सम्मान की सुरक्षा करने में नाकाम है. इसलिए इस सरकार को बर्खास्त कर वहां राष्ट्रपति शासन लगाया जाये तो बेहतर है.’’

मायावती ने एक के बाद एक कई ट्वीट किये
इससे पहले मायावती ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ‘‘राजस्थान के जालोर जिले के सुराणा में निजी स्कूल के नौ साल के दलित छात्र द्वारा प्यास लगने पर मटके से पानी पीने के कारण सवर्ण जाति के जातिवादी सोच के शिक्षक ने उसे इतनी बेरहमी से पीटा कि शनिवार को उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. इस हृदय विदारक घटना की जितनी निंदा और भर्त्सना की जाए वह कम है.’’

टीचर के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज
उल्लेखनीय है कि सुराणा गांव के एक निजी स्कूल में एक अध्यापक ने नौ वर्षीय दलित बच्चे इंद्र कुमार मेघवाल को कथित तौर पर मटकी छूने के कारण बेरहमी से पीटा था. यह घटना बीते 20 जुलाई की है. उसके बाद पीड़ित छात्र की तबीयत खराब हो गई थी. करीब 25 दिन के इलाज के बाद शनिवार को बच्चे ने अहमदाबाद में दम तोड़ दिया था. पुलिस ने इस मामले में आरोपी शिक्षक छैल सिंह (40) को गिरफ्तार कर लिया है. उसके खिलाफ हत्या और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

Tags: Ashok Gehlot Government, BSP chief Mayawati, Crime News, Jaipur news, Lucknow news, Political news, Rajasthan news



Source link

more recommended stories