पुलिसवाली ने प्रेमिका बनकर खेला खेल, फिर एक दिन कर दिया ये काम

आरोपी एक नाबालिग लड़की को भगाकर ले गया था। उसने उसके साथ दुष्कर्म किया। नाबालिग गर्भवती हो गई तो आरोपी उसे झांसा देने लगा। तंग आकर उसने आत्महत्या कर ली।
रेप के आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए इंदौर में पुलिस टीम के एक सदस्य ने फ़ोन पर आरोपी से पहले दोस्ती की और फिर आरोपी को सलाखों के पीछे पहुंचाया दरअसल इंदौर के बाणगंगा पुलिस थाने में आरोपी राजेंद्र उर्फ राज बर्मन पिता अनिल बर्मन निवासी ग्राम सिलोडी थाना ढीमरखेड़ा जिला कटनी के खिलाफ एक मामला दर्ज है।

आरोपी एक नाबालिग लड़की को भगाकर ले गया था। उसने उसके साथ दुष्कर्म किया। नाबालिग गर्भवती हो गई तो आरोपी उसे झांसा देने लगा। तंग आकर उसने आत्महत्या कर ली
पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला तो दर्ज किया था, लेकिन केस दर्ज होने के बाद से ही आरोपी फरार था। पुलिस किसी भी तरीके से उसको पकड़ नहीं पा रही थी पुलिस को उसे पकड़ने का कोई जरिया नहीं मिल रहा था। पुलिस अधीक्षक ने आरोपी पर 10 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया था लेकिन वह पकड़ में नहीं आया।
बाणगंगा थाना प्रभारी राजेंद्र सोनी के निर्देशन में एक टीम गठित की गई। पुलिस ने पता लगाया कि आरोपी राजेंद्र उर्फ राज नाबालिग की आत्महत्या के बाद से ही फरार था। राज जबलपुर में रहता था जो वहां से भागकर आंध्र प्रदेश चला गया। मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस टीम ने जबलपुर और हैदराबाद में दबिश दी, पर वह वहा भी नहीं मिला।
इसके बाद पुलिस टीम के एक सदस्य ने एक लड़की के नाम से आरोपी से मोबाइल पर संपर्क किया। चैटिंग का दौर शुरू हुआ पुलिस सदस्य ने पहले आरोपी से दोस्ती की उसके बाद उस से प्यार का चक्कर चलाया और आरोपी को विश्वास में लेकर उसे मिलने जबलपुर बुलाया। बात करने के बाद तारीख, समय और जगह तय हुई। आरोपी ने आने के लिए हां भी कर दी और पुलिस ने वहां जाल बिछा दिया। जैसे ही आरोपी वहां पर पहुंचा तो पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

more recommended stories