पुलिस ने सेक्स रैकेट का किया खुलासा, शिवसेना की महिला नेता कर रही थी लड़कियों की सप्लाई

भोपाल। मध्य प्रदेश के सीहोर में सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ है। चौंकाने वाली बात यह है कि रैकेट की सगरना एक महिला निकली है, जो खुद को शिवसेना की नेता, समाजसेवी, पत्रकार, आईटीआई कार्यकर्ता और योगाचार्य बताती है। जिसका नाम अनुपमा तिवारी हैं।मध्य प्रदेश की सीहोर पुलिस ने बस स्टैण्ड के पास अनुपमा तिवारी के मकान पर देर रात दबिश देकर भोपाल की चार लड़कियां, तीन ग्राहक, चालक व महिला मैनेजर व एक संचालिका को पकड़ा है। पुलिस को मकान से आपत्तिजनक सामग्री भी मिली है।
बता दें कि अनुपमा तिवारी ने साल 2015 में शिवसेना की टिकट पर नगर पालिकाध्यक्ष का चुनाव भी लड़ा था, जिसमें हार मिली। इसे सीहोर के तत्कालीन अपर कलेक्टर द्वारा नेहरू युवा केंद्र के कार्यक्रम में योगाचार्य के रूप में सम्मानित भी किया जा चुका है। अनुपमा तिवारी ने अपनी सोशल मीडिया प्रोफाइल में खुद को समाजसेवी और शिव सेना की महिला प्रदेश प्रमुख लिखे हुए है। मध्यप्रदेश शिवसेना गोजन कल्याण संघ की प्रदेशाध्यक्ष भी रह चुकी है।
पुलिस की शुरुआत जांच में सामने आया कि मूलरूप से होशंगाबाद की रहने वाली अनुपमा तिवारी के मकान पर रात को लड़कियां भोपाल के बैरागढ़ से बुलाई गई थी। प्रत्येक ग्राहक से पांच-पांच रुपए वसूल किए गए थे। अनुपमा के पति का साल 2018 में निधन हो गया। यह तीन माह पूर्व ही इंदौर से लौटी है।