प्रयागराज रेलवे स्टेशन में नमाज पढ़े जाने का मामला गर्माया, पूर्व मंत्री ने की कार्रवाई की मांग


हाइलाइट्स

प्रयागराज जंक्शन में नमाज पढ़ने का मामला गर्माया
पूर्व कैबिनेट मन्त्री ने बताया कानून का उल्लंघन

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश में सार्वजनिक स्थलों में नमाज पढ़ने का मामला गर्माया हुआ है. लखनऊ के लूलू मॉल से लेकर प्रयागराज जंक्शन में नमाज पढ़े जाने को लेकर कई हिन्दू संगठन लगातार विरोध कर रहे हैं. इसी कड़ी में अब उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह का नाम भी जुड़ गया है. प्रयागराज के पश्चिम से बीजेपी विधायक सिद्धार्थ नाथ सिंह ने ट्वीट कर प्रयागराज जंक्शन पर नमाज पढ़ने का विरोध किया है. बीजेपी विधायक ने ट्वीट कर नमाज पढ़ने वालों पर कार्रवाई की मांग की है.

पूर्व कैबिनेट मंत्री ने ट्वीट कर लिखा कि सार्वजनिक स्थानों पर नमाज के पढ़ने पर यूपी में प्रतिबंध है, इसलिए प्रयागराज रेलवे स्टेशन पर नमाज को पढ़ने वालों ने कानून का उल्लंघन किया है. पुलिस को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए.

यह है पूरा मामला

गौरतलब है कि 21 जुलाई को प्रयागराज जंक्शन के प्लेटफार्म नम्बर एक पर स्थित वेटिंग रूम में नमाज पढ़ने का मामला सामने आया था. दरअसल 21 जुलाई को महानन्दा एक्सप्रेस से ह्यूमन ट्रैफिकिंग की आशंका के चलते 2 व्यक्तियों के साथ 15 नाबालिग और 6 बालिग बच्चों को महानन्दा एक्सप्रेस ट्रेन से प्लेटफॉर्म नम्बर एक पर उतारा गया था, जिनसे वेटिंग रूम में ही बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉक्टर अखिलेश मिश्र व सदस्य आकांक्षा सोनकर और अरविन्द कुमार ने पूछताछ की.

इसी बीच शाम के करीब 7 बजे नमाज के वक्त होने पर मदरसे का शिक्षक अब्दुल रब वेटिंग रूम में ही बच्चों को लेकर नमाज पढ़ने लगा. सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के माध्यम से दावा किया गया कि मदरसे के शिक्षक ने इत्मीनान के साथ नाबालिग बच्चों संग नमाज अदा की. इस दौरान वहां खड़े जीआरपी और आरपीएफ के इंस्पेक्टर व अन्य सुरक्षाकर्मी मूकदर्शक बने रहे. बाद में वीडियो वायरल होने के बाद जब हिंदूवादी संगठनों ने विरोध किया तो हड़कंप मच गया. इसी मसले को लेकर अब पूर्व कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने भी कार्रवाई की मांग की है. आपको बता दें कि इसके पहले लखनऊ के लूलू मॉल में भी नमाज पढ़ी गई थी, जिस पर हिन्दू संगठनों ने अपना विरोध दर्ज कराया था.

Tags: Allahabad news, Siddharth Nath Singh, UP news, Uttarpradesh news



Source link

more recommended stories