प्रयागराज हिंसा के मास्टर माइंड जावेद पंप को 11 बजे तक घर खाली करने का नोटिस, आज चलेगा बुलडोजर


प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में जुमे की नमाज के बाद भड़की हिंसा और बवाल से जुड़ी बड़ी खबर आई है. इस हिंसा के कथित मास्टर माइंड जावेद मोहम्मद उर्फ जावेद पंप के घर पर आज बुलडोजर चलने वाला है. पीडीए ने इस बाबत नोटिस चस्पा किया, जिसमें ध्वस्तीकरण के लिए करेली के जेके आशियाना कॉलोनी में 1500 वर्गफीट में बने दो मंजिला आलीशान मकान को रविवार 11 बजे तक खाली करने को कहा गया है.

दरअसल जावेद पर प्रयागराज विकास प्राधिकरण से बगैर नक्शा पास कराए मकान बनाने का आरोप है. प्राधिकरण ने 10 मई को इस संबंध में नोटिस जारी किया था, जिसके बाद 24 मई तक अभिलेख प्रस्तुत न करने पर ध्वस्तीकरण आदेश जारी हुआ.

पीडीए के संयुक्त सचिव और जोनल अधिकारी की ओर से 25 मई को ध्वस्तीकरणकरण आदेश जारी किया गया है. इसके मुताबिक, 12 जून को सुबह 11:00 बजे तक घर खाली करने का समय दिया गया है. ऐसे में रविवार सुबह 11:00 बजे के बाद ध्वस्तीकरण की कार्रवाई होगी.

इस बीच यहां जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा और बवाल के मामले में गिरफ्तार किए गए 68 उपद्रवियों को प्रयागराज पुलिस ने शनिवार शाम जिला कोर्ट में पेश किया, ज्यूडीशियल मजिस्ट्रेट ने सुनवाई के बाद इनमें से 64 उपद्रवियों को उनके अपराध की गंभीरता को देखते हुए उन्हें नैनी सेंट्रल जेल भेज दिया है, जबकि चार नाबालिग उपद्रवियों को कोर्ट ने बाल संप्रेक्षण गृह खुल्दाबाद भेजने का आदेश दिया है.

एसएसपी अजय कुमार के मुताबिक पुलिस ने पुख्ता लिखा पढ़ी करके सबूतों के साथ उपद्रवियों को ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश किया, जिसके बाद कोर्ट ने किसी भी उपद्रवी की जमानत मंजूर नहीं की और अपराध की गंभीरता को देखते हुए ही उन्हें जेल भेजने का आदेश दिया है. एसएसपी अजय कुमार ने बताया कि पुलिस अभी भी वीडियो और फुटेज के आधार पर आरोपियों के खिलाफ उपद्रवियों को चिन्हित करने की कोशिश कर रही है, ताकि उनके ऊपर प्रभावी कार्यवाही की जा सके.

इस बीच पुलिस उपद्रवियों के घरों को भी चिह्नित कर रही है और जिनके अवैध निर्माण हैं, उनके खिलाफ राजस्व और प्रयागराज विकास प्राधिकरण की टीमें ध्वस्तीकरण की योजना बना रही हैं. एसएसपी अजय कुमार के मुताबिक पुलिस मीडिया और जनता के माध्यम से और वीडियो फुटेज और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कार्यवाही की तैयारी कर रही है. एसएसपी ने सख्त चेतावनी दी है कि कानून को हाथ में लेने वाले मनमानी करने वाले पुलिस प्रशासन पर पथराव करने वाले और पब्लिक प्रॉपर्टी को क्षति पहुंचाने वाले अराजक और असामाजिक तत्वों को किसी सूरत में कतई बख्शा नहीं जाएगा.

Tags: Prayagraj News, UP Violence



Source link

more recommended stories