प्रयागराज हिंसा: जावेद पंप के बाद ध्वस्त हो सकता है AIMIM नेता शाह आलम का घर, PDA ने चिपकाया नोटिस


प्रयागराज. हिंसा के आरोपियों के खिलाफ कानूनी शिकंजा लगातार कसता जा रहा है. हिंसा के आरोपी और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) के जिलाध्यक्ष मोहम्मद शाह आलम के खिलाफ भी प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने कार्रवाई शुरू कर दी है. हिंसा के आरोपी मोहम्मद शाह आलम के घर पर पीडीए की ओर से एक नोटिस चस्पा की गई है, जिसमें आरोप लगाया गया है कि स्वीकृत नक्शे के विपरीत अवैध निर्माण कराया गया है. 40×50 फीट के माप में रोड वाइडिंग और सेट बैक कवर करते हुए पूर्व निर्मित भूतल और प्रथम तल पर निर्माण किया गया है जो अवैध है.

पीडीए ने जो नोटिस जारी किया है उसमें 29 जून को 11:00 बजे तक शाह आलम को अपना पक्ष रखने की मोहलत दी है. यह नोटिस प्रयागराज विकास प्राधिकरण के जोन दो के जोनल अधिकारी अजय कुमार की ओर से जारी किया गया है. करेली इलाके के जेके आशियाना कॉलोनी गौस नगर में मोहम्मद शाह आलम का आलीशान दो मंजिला मकान बना है. जिसकी लागत करोड़ों में है. हालांकि यह मकान मोहम्मद शाह अलम के भाई सैय्यद मकसूद अहमद के नाम पर है. नोटिस के मुताबिक संतोष जनक जवाब न मिलने पर पीडीए अनाधिकृत निर्माण पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई भी कर सकता है. इसके साथ ही प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने प्रयागराज हिंसा में शामिल करीब 3 दर्जन से ज्यादा अन्य आरोपियों के अवैध निर्माणों के खिलाफ भी नोटिस जारी कर दिया है.

हिंसा के बाद से फरार है शाह आलम
गौरतलब है कि 10 जून को जुमे की नमाज के बाद हिंसा और बवाल के मामले में ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम के जिलाध्यक्ष मोहम्मद शाह आलम को भी आरोपी बनाया गया है. मोहम्मद शाह आलम फरार है और पुलिस ने उसके खिलाफ कोर्ट से एनबीडब्ल्यू भी जारी कराया है. मोहम्मद शाह आलम का मकान हिंसा के मास्टरमाइंड जावेद मोहम्मद उर्फ जावेद पंप के ध्वस्त किए गए मकान के पास में ही स्थित है.

हिंसा के बाद दर्ज हुईं थीं दो एफआईआर
आपको बता दें कि प्रयागराज हिंसा के बाद पुलिस ने करेली थाने में एक और खुल्दाबाद थाने में दो एफआईआर दर्ज कराई थीं. पुलिस ने 80 से ज्यादा लोगों को नामजद और 5000 से ज्यादा लोगों के खिलाफ अज्ञात में मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस ने अब तक कार्रवाई करते हुए हिंसा के मास्टरमाइंड जावेद मोहम्मद उर्फ जावेद पंप के साथ ही 104 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है. प्रयागराज पुलिस जावेद अहमद उर्फ जावेद पंप को रिमांड पर लेकर पूछताछ भी कर रही है. इसके साथ ही सीसीटीवी फुटेज और वीडियो के आधार पर अन्य पत्थरबाजों की पहचान कर उनके खिलाफ भी लगातार कार्रवाई कर रही है.

Tags: AIMIM Chief, Prayagraj News, Prayagraj Violence, UP news, UP Police उत्तर प्रदेश, UP Violence, Yogi government



Source link

more recommended stories