प्रतापगढ़: विधायक के चाचा की हत्या का खुलासा, दूसरे चाचा ने कराई थी हत्या, वजह कर देगी हैरान

प्रतापगढ़ में सदर विधायक के चाचा की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. इस घटना में शामिल चार अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.
प्रतापगढ़ में सदर विधायक के चाचा की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. इस घटना में शामिल चार अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.


प्रतापगढ़ में सदर विधायक के चाचा की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. इस घटना में शामिल चार अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

प्रतापगढ़ में सदर विधायक के चाचा की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. इस घटना में शामिल चार अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक विधायक के दूसरे चाचा ने ही हत्या की साजिश रची थी.

प्रतापगढ़. उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) के प्रतापगढ़ ( Pratapgarh) में सदर विधायक के चाचा की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. इस घटना में शामिल चार अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक विधायक के दूसरे चाचा ने ही हत्या की साजिश रची थी. वही इस घटना का वादी भी था. पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त की गयी पिस्टल, दो बाइक बरामद कर ली हैं. झाड-फूंक के चलते सदर विधायक राजकुमार पाल (MLA  Rajkumar Pal) के दूसरे चाचा ईश्वरदीन पाल ने अपने भाई राम पाल की हत्या सुपारी देकर कराई थी.

पुलिस ने इस मामले में जिन चार लोगों को गिरफ्तार किया उनमें ईश्वरदीन, नन्दलाल, अफसर , हरिश्चंद्र शामिल हैं. पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में हत्यारोपी ईश्वरपाल ने बताया की मृतक रामपाल ने मेरे बेटे को भूत-प्रेत कराके मार डाला. जिसके बाद घर में मृतक ने मुर्गे और शराब की पार्टी भी आयोजित की थी. वहीं आरोपी के दूसरे बेटे पर भी भूत-प्रेत कराके उसको मारने की धमकी मृतक ने दी थी. जिसके चलते विधायक के दूसरे चाचा ने अपनी भाई की हत्या करा दी. जिसके बाद हत्यारोपी ने लेखपाल के मुंशी को डेढ़ लाख रुपये में अपने भाई की हत्या की सुपारी दी थी.

पुलिस ने बताया कि लेखपाल के मुंशी नन्द लाल ने इलाके के भाड़े  के शूटर से मिलकर हत्या की घटना को अंजाम दिया. पुलिस के खुलासे से प्रतापगढ़ के लोग सन्न रह गए. पुलिस ने चारों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

गौरतलब है कि बीते 21 मार्च की शाम को अज्ञात बदमाशों ने सदर विधायक राजकुमार पाल के घर के पास उनके चाचा राम पाल की गोलीमार कर हत्या कर दी थी. हत्या से सनसनी फैल गई थी. चाचा की हत्या का खुलासा नहीं होने नाराज विधायक ने सीएम योगी को पत्र लिखकर मामले में कार्यवाई की माग की थी. इस पर सीएम योगी ने मामले का जल्द खुलासा कराने अधिकारियों को निर्देशित किया था.







Source link