Prayagraj DM amended the order of Night curfew, now the night curfew will be from 9 am to 6 am

UP: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में लगाया गया नाइट कर्फ्यू. (File Photo)
UP: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में लगाया गया नाइट कर्फ्यू. (File Photo)


UP: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में लगाया गया नाइट कर्फ्यू. (File Photo)

UP में कोरोना बेकाबू हो गया है और इस साल के संक्रमित केस के मामले में सारे रिकॉर्ड तोड़ रहा है. कोरोना के संक्रमण को कम करने और इसकी रोकथाम के लिए सरकार लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के विकल्पों पर काम कर रही है. नोएडा, गाजियाबाद के बाद प्रयागराज में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है.

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection)बेकाबू हो गया है और इस साल के सारे रिकॉर्ड तोड़ रहा है. कोरोना के संक्रमण को कम करने और रोकने के लिए सरकार लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के विकल्पों पर काम कर रही है. पहले गाजियाबाद और नोएडा में नाइट कर्फ्यू ( Night curfew) लगाने के बाद अब प्रयागराज (Prayagraj) में भी नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है. नाइट कर्फ्यू रात 9 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक रहेगा.

इस संबंध में संशोधित आदेश डीएम भानुचंद्र गोस्वामी देर शाम जारी कर दिया है. पहले रात 10 बजे से सुबह 8 बजे तक नाइट कर्फ्यू के आदेश दिए गए थे, लेकिन इसमें बदलाव करते हुए नाइट कर्फ्यू रात 9:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक किया गया है. शेष नियम और शर्तों को पूर्ववत ही रखा गया है.

बता दें कि यूपी में बिजली की रफ्तार से कोरोना का ग्राफ बढ़ रहा है. प्रदेश में पिछले 24 घण्टे में 8490 कोरोना पॉज़िटिव केस मिले हैं. अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि इनमें से 50 फ़ीसदी मामले लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर से हैं. प्रदेश में अभी भी एक्टिव केस 39338 हैं. एसीएस अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि सूबे में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड 19 से संक्रमित 39 और लोगों की मौत हो गई है. अब तक कुल 9003 लोगों की मौत हुई है. 39338 एक्टिव केस में से 50 प्रतिशत मामले 4 जिलों लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर से हैं.

सीएम के निर्देश पर ़1 जिलों में भेजे गए अफसर इधर, CM योगी के निर्देश पर वरिष्ठ अफसरों को 13 जिलों में नोडल अधिकारी के रूप में तैनात किया गया है. ये सभी नोडल अधिकारी 15 दिनों तक संबंधित जिले में रुक कर डीएम के साथ समन्वय स्थापित करेंगे. और कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठाएंगे. इनकी निगरानी खुद मुख्यमंत्री कार्यालय (CMO) करेगा. सीएम योगी प्रदेश में फैल रहे कोरोना संक्रमण को लेकर काफी गंभीर हैं. उन्होंने अस्पतालों में बेडों की संख्या और उपचार की व्यवस्था को और सुदृढ़ बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं.







Source link