OMG! यूपी के गन्ने बेल्ट में अब इन चीजों की खेती कर रहे किसान, कमा रहे डबल मुनाफा

meerut Farmers


मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ और हापुड़ के प्रगतिशील किसान परंपरागत गन्ने की खेती के साथ अब ड्रैगन फ्रूट की भी खेती कर रहे हैं. मेरठ के मवाना क्षेत्र के किसान और हापुड़ के किसानों ने गुजरात से 1600 पौधे लाकर एक एकड़ में उसकी रोपाई की थी. एक एकड़ में 400 पोल खड़े किए गए और प्रति पोल पर चार पौधे कैक्टस बेल की तरह लगाए गए. अब इस पर फूल आने शुरू हो गए हैं और कुछ ही समय में ड्रैगन फ्रूट का उत्पादन भी होगा.

उद्यान के उपनिदेशक डॉक्टर विनीत ने बताया कि एक एकड़ में ड्रैगन फ्रूट की खेती करने के लिए लगभग पांच लाख रुपये की लागत आती है. फुटकर बाजार में ड्रैगन फ्रूट के एक पीस की कीमत 200 से 250 रुपये तक होती है. अप्रैल से अक्टूबर तक फल का उत्पादन होगा. उन्होंने बताया कि ड्रैगन फ्रूट के पौधे की आयु 15 से 20 वर्ष होती है. ड्रैगन फ्रूट के खेत में किसानों ने सिंचाई के लिए ड्रिप सिंचाई का उपयोग किया है. इससे जल संरक्षण तो होगा ही साथ ही बिजली की बचत भी होगी. ड्रैगन फ्रूट का उत्पादन होने पर फल बेचने के लिए किसान दिल्ली की गाजीपुर मंडी समेत बड़ी मंडियों में जाएंगे जहां उन्हें अच्छे दाम मिलते हैं.

उपनिदेशक उद्यान का कहना है कि ड्रैगन फ्रूट की खेती किसानों के लिए शुभ संकेत है. सरकार की ओर से प्रोत्साहन के तौर पर ऐसी खेती करने वाले किसानों को अनुदान भी दिया जा रहा है. उपनिदेशक उद्यान का कहना है कि ड्रैगन फ्रूट फल मंडी में काफी महंगा बिकता है जिससे किसानों की आय में काफी वृद्धि होगी. वहीं, स्ट्रॉबेरी की खेती भी वेस्ट यूपी के किसानों को ख़ासा लुभा रही है. इसी को देखते हुए अब उद्यान विभाग यहां लाखों की लागत से स्ट्रॉबेरी की खेती को बढ़ावा देने के लिए हाईटेक नर्सरी का निर्माण करा रहा है. तकरीबन पचास लाख रुपए की लागत से यहां हाईटेक नर्सरी तैयार हो रही है.

मिशन के तहत किसान बड़ी मात्रा में ड्रैगन फ्रूट की खेती कर रहे हैं.

उपनिदेशक उद्यान ने बताया कि विभाग स्ट्रॉबेरी को बढ़ावा देने में जुटा हुआ है. पचास लाख रुपए की लागत से स्ट्रॉबेरी की हाईटेक नर्सरी पलहेड़ा इलाके में तैयार हो रही है. दो हेक्टेयर का लक्ष्य स्ट्रॉबेरी की खेती के लिए रखा गया है. उन्होंने बताया कि टिश्यू कल्चर विधि से पौधे किसानों को यहां से उपलब्ध कराए जाएंगे. पांच सौ छिहत्तर स्कवायर मीटर में हाईटेक नर्सरी तैयार हो रही है.

इससे पहले मेरठ के दो किसान भाईयों ने मिलकर स्ट्रॉबेरी की खेती करके अपनी आय दोगुनी कर पीएम मोदी के सपनों को साकार करने में अहम कदम बढ़ाया है. कृषि विविधिकरण से आय दोगुनी करने का फार्मूला अपनाकर ये किसान भाई आज रोज़ कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ रहे हैं. मेरठ में माछरा ब्लाक के अमरपुर निवासी किसान भाईयों ने एक एकड़ में स्ट्रॉबेरी की शानदार खेती की शुरूआत करके एक उदाहरण पेश किया था. यकीनन गन्ने की खेती से हटकर उद्यानिक फसलों में अधिक फायदा है. खीरे की खेती शिमला मिर्च ज़रबेरा के फूल की खेती को भी किसान अपना रहे हैं और उन्हें शानदरा फायदा मिल रहा है.

Tags: Meerut news, Uttar pradesh news



Source link

more recommended stories