OMG! प्रयागराज से 7 दिन में 200KM दौड़कर सीएम योगी के आवास पहुंचेगी 10 साल की काजल, जानें क्‍यों उठाया ये कदम


प्रयागराज. पिछले वर्ष इंदिरा मैराथन में हिस्सा लेकर सुर्खियों में आई कक्षा चार की छात्रा काजल ने इस बार कुछ बड़ा करने की ठानी है. 10 वर्षीय काजल (Kajal) रविवार को प्रयागराज से दौड़ लगाकर 17 अप्रैल को लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पहुंचेगी. वहीं, प्रयागराज के सिविल लाइंस के सुभाष चौराहे से लखनऊ के लिए रवाना होने से पहले काजल ने बताया कि उसने पिछले वर्ष इंदिरा मैराथन दौड़ में हिस्सा लिया था, लेकिन न तो उसके स्कूल और न ही जिला प्रशासन ने उसकी सराहना की.

वहीं, काजल के कोच रजनीकांत ने बताया कि प्रयागराज के बाद काजल का पहला पड़ाव फाफामऊ होगा, जहां वह विश्राम करेगी. फिर सोमवार को प्रतापगढ़ के कुंडा के लिए रवाना होगी, जहां उसकी कुंडा के विधायक राजा भैया के घर विश्राम करने की योजना है. कुंडा के बाद काजल ऊंचाहार, रायबरेली से होते हुए 17 अप्रैल को लखनऊ पहुंचेगी. बता दें कि प्रयागराज से लखनऊ की दूरी करीब 200 किलोमीटर है.

रजनीकांत के मुताबिक, काजल प्रयागराज से लखनऊ की अपनी यात्रा में रोजाना 35 से 40 किलोमीटर दौड़ लगाएगी. उन्होंने बताया कि अत्यधिक गर्मी पड़ने की वजह से वह दोपहर में विश्राम करेगी और सुबह पांच बजे से आठ बजे व शाम पांच बजे से सात बजे के बीच दौड़ लगाएगी.

मांडा के राजा एवं पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह के क्षेत्र से है संबंध
काजल के कोच रजनीकांत के अनुसार, मांडा के राजा एवं पूर्व प्रधानमंत्री विश्वनाथ प्रताप सिंह के क्षेत्र में स्थित ललितपुर गांव की रहने वाली काजल अपनी तीन बहनों में सबसे छोटी है और उसके पिता नीरज बिंद रेलवे में प्वाइंट्समैन के पद पर कार्यरत हैं. वहीं, काजल ने उम्मीद जताई कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ धाविका बनकर देश का नाम रोशन करने का सपना पूरा करने में उसे हर संभव मदद उपलब्ध कराएंगे.

रजनीकांत ने बताया कि पिछले वर्ष इंदिरा मैराथन में दौड़ पूरी करने के बावजूद काजल को स्टेडियम के मंच पर जाने से रोक दिया गया था, जिससे वह बहुत दुखी हुई थी और आगे कुछ बड़ा करने की ठानी थी.

प्रयागराज से इंडिया गेट तक दौड़ चुकी है काजल
काजल इससे पहले प्रयागराज से इंडिया गेट (नई दिल्ली) तक दौड़ चुकी है. इस दौरान उसने 16 दिन में 720 किलोमीटर की दूरी पूरी की थी. वहीं, इंडिया गेट पहुंचने के बाद यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ कई एनजीओं ने उनको सम्मानित किया था.

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

Tags: Allahabad news, Yogi adityanath



Source link

more recommended stories