नशा मुक्ति केंद्र में महिलाओं के साथ दुष्कर्म…

देहरादून, 09 अगस्त। देहरादून के एक निजी नशामुक्ति केंद्र में भर्ती महिलाओं के साथ वहां के प्रबंधक द्वारा कथित तौर पर यौन उत्पीड़न करने और दुष्कर्म करने तथा विरोध करने पर उनके साथ अमानवीय व्यवहार करने का मामला सामने आया है।
क्लेमेंटाउन थाने के अध्यक्ष डीएस रौतेला ने सोमवार को बताया कि मामले में ‘वॉक एंड विन’ नशा मुक्ति केंद्र की निदेशक विभा सिंह को गिरफ्तार किया गया है और अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है । उन्होंने बताया कि आरोपी प्रबंधक विद्यादत्त रतूडी अभी फरार है, उसकी तलाश की जा रही है।

मामला तब सामने आया जब शुक्रवार को चार महिलाएं निदेशक को कमरे में बंद करके केंद्र से भाग निकलीं और पुलिस को उन्होंने आपबीती सुनाई।
महिलाओं ने अपनी शिकायत में कहा कि नशा मुक्ति केंद्र का प्रबंधक महिलाओं को नशीला पदार्थ देने के बाद उनके साथ दुष्कर्म करता था और निदेशक उसके साथ मिली हुई थी।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि विरोध करने पर सजा के तौर पर महिलाओं को छडी से पीटा जाता था या घंटों टूटी ईंटों या नुकीले स्टूलों पर बैठने को मजबूर किया जाता था ।

उन्होंने बताया कि तीन महिलाओं ने अपने साथ यौन उत्पीड़न और एक ने दुष्कर्म की शिकायत की है । उन्होंने बताया कि उसकी चिकित्सकीय रिपोर्ट आने की प्रतीक्षा की जा रही है।

more recommended stories