Noida News: कोरोना काल में बिजनेस डूबा तो आत्मनिर्भर बनीं ये 3 महिलाएं, जानें पूरी कहानी


रिपोर्ट- आदित्य कुमार

नोएडा: कोरोना वायरस हर किसी के लिए काल बनकर आया था. इस महामारी ने किसी का परिवार छीना तो किसी की रोजी रोटी. हालात ऐसे कर दिए थे कि लोग भूखे प्यासे सड़कों पर भटकने के लिए मजबूर हो गए थे. कोरोना के कारण नोएडा की रहने वाली सोनिया चौधरी, हेमा और किरण सैनी के पति को भी व्यापार में काफी घाटा होने लगा था. हालात ऐसे हो गए थे कि घर चलाना भी मुश्किल हो गया था. ऐसे वक्त में इन महिलाओं ने अपना खाना बनाने का बिजनेस शुरू किया. वहीं, कड़ी मेहनत और लगन के कारण आज इन महिलाओं की चार दुकानें (ढाबे) चल रही हैं.

नोएडा में रहने वाली ये महिलाएं शाम के सात बजे से रात के 11 बजे तक नोएडा के सेक्टर-120 दुकान चलाती हैं. NEWS 18 LOCAL से बात करते हुए किरण सैनी बताती हैं कि पहले पति ही अपनी दुकान चलाते थे, लेकिन कोरोना के दौरान स्थिति काफी खराब हो गई. परिवार पालने की समस्या होने लगी. इसी बीच एक दिन हम तीनों दोस्त घूमने के लिए निकले. हमने देखा कि कई दुकानें तो चल रही हैं, लेकिन आसपास खाने की कोई दुकान नहीं थी. फिर हमारे दिमाग में दुकान खोलने का आइडिया आया. पहले दिन हमने कुछ हजार पैसे में ही शुरू किया था. शुरू-शुरू में काफी शर्म आ रही थी, लेकिन जब ढाबे पर लोग आने लगे तो हमने पीछे मुड़कर नहीं देखा. आज हमारी चार दुकानें नोएडा के अलग-अलग जगहों पर लगती हैं .

घर वालों ने किया था विरोध
सोनिया चौधरी बताती हैं कि शुरुआत में तो घर के लोग भी साथ नहीं देते थे, लेकिन अब वो लोग भी साथ हैं. अब तो हर रोज हमें अच्छे-बुरे लोग मिलते रहते हैं. हालांकि ग्राहक जो भी यहां आते हैं, वह सब लोग साथ देते हैं. वहीं, हेमा कहती हैं कि दिन में तो हम लोग घर का काम करती हैं और रात को दुकान चलाती हैं. हम तीनों लोग एक दूसरे के साथ काम करते हैं और सहयोग भी करते हैं.

Tags: Corona Lockdown, Noida news, Street Food



Source link

more recommended stories