Noida: अभी जारी रहेगा डायवर्जन, जानिए कब तक बनकर तैयार होगा परथला गोलचक्कर पर ब्रिज?


आदित्य कुमार

नोएडा. उत्तर प्रदेश के नोएडा शहर से फरीदाबाद, ग्रेटर नोएडा वेस्ट, गाजियाबाद और गुरुग्राम जाने में लोगों को अभी छह माह तक और मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. क्योंकि इनको जोड़ने वाले ब्रिज परथला गोलचक्कर को बनने में अभी वक्त लगेगा. जबकि ब्रिज परथला गोलचक्कर को पूरा करने का समय पूरा हो चुका है, लेकिन निर्माण कार्य धीमा होने के कारण यहां डाइवर्जन मार्च 2023 तक जारी रहेगा.

बता दें कि, परथला पर बनने वाले इस हैंगिंग ब्रिज के लिए पहले बीते जून माह तक का समय निर्धारित किया गया था, लेकिन किसी कारण से इसे बढ़ाकर सितंबर माह कर दिया गया. मगर अभी भी निर्माण कार्य अधूरा ही है. ऐसे में एक बार फिर इसकी निर्माण अवधि छह माह के लिए बढ़ा दी गयी है.

इसकी जानकारी देते हुए नोएडा प्राधिकरण में सीनियर मैनेजर ए.के जैन ने कहा कि वर्ष 2023 की शुरुआत में ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा. वहीं, मार्च 2023 तक लाइटिंग और अन्य फिनिशिंग का कार्य पूरा किया जाएगा. उसके बाद नोएडा से फरीदाबाद, ग्रेटर नोएडा वेस्ट, गाजियाबाद और गुरुग्राम आने-जाने में आसानी होगी. अभी यहां पर डाइवर्जन बनाया गया है.

जानिए कितनी है ब्रिज की लागत
छह लेन का यह फ्लाईओवर लगभग 700 मीटर लंबा है. इसके निर्माण पर 83 करोड़ रुपये की लागत आएगी. दिल्ली के सिग्नेचर ब्रिज की तरह यहां भी 150 का हैंगिंग ब्रिज बनना है. यह फ्लाईओवर अगले वर्ष के शुरुआत में जब बन कर तैयार हो जाएगा तो लाखों लोगों को एफएनजी (फरीदाबाद, नोएडा, गुरुग्राम) आने-जाने में आसानी होगी. यह सड़क नोएडा को ग्रेटर नोएडा वेस्ट, एक मूर्ति, चार मूर्ति, गाजियाबाद को भी जोड़ती है.

Tags: Delhi-ncr, Noida news, Up news in hindi



Source link

more recommended stories