नोएडा ट्विन टावर: सुपरटेक 7 अगस्त तक संरचनात्मक ऑडिट की देगा जानकारी, जानें पूरा मामला


नोएडा. रियल एस्टेट कंपनी सुपरटेक को सीबीआरआई द्वारा मांगे गए ट्विन टावर से सटे भवनों के संरचनात्मक ऑडिट से संबंधित सभी जानकारी रविवार तक प्रदान करने का निर्देश दिया गया है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान (सीबीआरआई) ने सुपरटेक और फर्म ‘एडिफिस इंजीनियरिंग’ से मलबे प्रबंधन समेत अन्य विषयों के बारे में विवरण मांगा था. ट्विन टावर को गिराने का काम 21 अगस्त 2022 को दोपहर 2.30 बजे होगा. गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने पिछले साल अगस्त में दिए फैसले में कहा था कि नोएडा सेक्टर 93ए में बने ट्विट टावर इमारत मानकों का उल्लंघन करते हैं. साथ ही इन्हें गिराने का आदेश दिया था.

वहीं, कल खबर सामने आई थी कि सुपरटेक ट्विन टावर को 28 अगस्त को ध्वस्त किया जाना है. ऐसे में जैसे-जैसे इमारत को गिराने के दिन नजदीक आ रहे हैं, ट्विन टावर के दोनों तरफ बनी एटीएस और सुपरटेक में रहने वालों को अपने भविष्य की चिंता सता रही है. वहां रहने वाले लोग चिंतित हो रहे हैं, उनमें डर बना हुआ है. आप भी सोच रहे होंगे कि दूसरी बिल्डिंग में रहने वाले लोग क्यों चिंतित हो रहे हैं? उन्हें डर क्यों लग रहा है? तो चलिए जानते हैं कि आखिर आस-पास वाली बिल्डिंग में रहने वाले लोगों की चिंता का क्या कारण है?

अब 3,800 किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया जा रहा है
दरअसल वहां रहने वाले लोग अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं. लोगों का मानना है कि बिल्डिंग को गिराए जाने से आस पास की अन्य बिल्डिंग भी प्रभावित हो सकती हैं. जिसके कारण सरकार ने सुरक्षा के मद्देनजर सभी स्थानीय लोगों को लगभग 10 घंटे के लिए घर खाली करने का आदेश दिया है. आपको बता दें कि सुपरटेक ट्विन टॉवर को गिराने में 3800 किलो विस्फोटक का उपयोग किया जा रहा जिसकी वजह से वहां रहने वाले लोगों को चिंता सता रही है. स्थानीय लोगों का कहना है कि बिल्डिंग को गिराने के लिए पहले 2,500 किलोग्राम विस्फोटक इस्तेमाल करने की बात कही गई थी. लेकिन अब 3,800 किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया जा रहा है.

Tags: Noida Authority, Noida news, Supertech twin tower



Source link

more recommended stories