नोएडा में 21 अगस्त को एक घंटे नहीं उड़ेंगे हवाई-जहाज, गुल रहेगी बिजली-जानें वजह


नोएडा. 21 अगस्त की दोपहर 2 बजे से लेकर 3 बजे तक के लिए नोएडा (Noida) में एक खास तरह का प्लान लागू रहेगा. एक घंटे के लिए नोएडा के आसमान में न तो हवाई-जहाज (Aeroplane) उड़ेंगे और न ही एक खास इलाके में बिजली सप्लाई होगी. इसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) और इंडियन एयरफोर्स (Indian Air Force) को लैटर लिखा गया है. वहीं बिजली विभाग से भी एक घंटे के लिए बिजली बंद रखने की मांग की गई है. गौरतलब रहे नोएडा के सेक्टर-93ए में सुपरटेक के ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) को गिराने के लिए कंट्रोल ब्लास्ट किया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट ने सुपरटेक के सियान और एपेक्स टावर को अवैध घोषित कर दिया है.

सुपरटेक के अवैध ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) को गिराने में लगी कंपनी एडिफिस आसपास बने सभी टावर की वीडियोग्राफी कराई है. ट्विन टावर के मलबे और धूल से बचाने के लिए टावर से एकदम सटकर बने सात टावर्स को ढका जा रहा है. वीडियोग्राफी (Videography) कराने के पीछे एक मकसद यह भी है कि अगर विस्फोट (Explosion) से किसी टावर को कोई नुकसान होता है तो वो वीडियो में साफ दिखाई दे जाएगी कि विस्फोट से पहले बिल्डिंग कैसी थी.

खाली कराए जाएंगे एमराल्ड कोर्ट और एटीएस विलेज

नोएडा अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो 21 अगस्त की दोपहर करीब ढाई बजे सुपरटेक के ट्विन टावर में ब्लास्ट किया जाएगा. ट्विन टावर के पास ही दो बड़े आवासीय क्षेत्र एमराल्ड कोर्ट और एटीएस विलेज हैं. प्लान के तहत ब्लास्ट के वक्त एक घंटे के लिए दोनों परिसरों को खाली करा लिया जाएगा. यहां तक की दोनों सोसाइटी के सभी तरह के वाहनों को ब्लास्ट वाली जगह से करीब 100 मीटर दूर खड़ा कराया जाएगा. सोसाइटी के पेट्स भी यहां से हटा दिए जाएंगे. एक घंटे के लिए एमराल्ड कोर्ट और एटीएस विलेज परिसर और दूसरे प्रभावित इलाकों की बिजली सप्लाई बंद कर दी जाएगी.

ब्लास्ट के दौरान यह लोग भी रहेंगे मौजूद

सुपरटेक के ट्विन टावर में ब्लास्ट के दौरान कई तरह के एहतियाती कदम उठाए जाएंगे. इसी के तहत मौके पर 2 फायर टेंडर, 5 एम्बुलेंस और सफाईकर्मी को रखा जाएगा. सफाईकर्मियों का काम ब्लास्ट के बाद शुरू हो जाएगा. ब्लास्ट के बाद आसपास के इलाके में फैली धूल और मलबे के छोटे-छोटे टुकड़ों को हटाया जाएगा. एनडीआरएफ की टीम किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए तैनात रहेगी. नोएडा पुलिस के जवान भी तैनात किए जा रहे हैं. यह भीड़ को कंट्रोल करने के साथ ही विस्फोटक लगने के बाद बिल्डिंग की निगरानी भी करेगे.

नोएडा में फिर महंगा होगा आशियना और कारोबार का सपना, बढ़ेंगे जमीन के दाम

प्लास्टिक शीट से ढके जाएंगे फूल-पौधे 

सुपरटेक के अवैध ट्विन टावर गिराने के दौरान काफी धूल उड़ेगी. इससे पर्यावरण को भी नुकसान हो सकता है. हालांकि टावर तोड़ने का काम कर रही कंपनी एडिफिस और नोएडा अथॉरिटी इसके हर जरूरी कदम उठा रही है. टावर गिरने के बाद उठने वाली धूल से निपटने के लिए एक प्लान बनाया गया है.

प्लान के तहत आसपास के फूल-पौधों को प्लास्टिक की शीट्स से ढका जाएगा. मौके पर तैनात फायर ब्रिगेड की टीम धूल पर पानी की बौछार करेंगी. वहीं सियान और एपेक्स टावर के पास एमराल्ड और एटीएस बिल्डिंग को कोई नुकसान न पहुंचे इसके लिए भी हर जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं.

Tags: Explosion, Supertech twin tower, Supreme court of india



Source link

more recommended stories