नीलामी में फ्लैट-प्लाट, विला खरीदने हैं तो ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की बेवसाइट पर देखें लिस्ट


नोएडा. बकाया नहीं चुकाने वाले बिल्डर्स (Builders) के खिलाफ जल्द ही बड़ी कार्रवाई होने जा रही है. ऐसे 24 बिल्डर्स के खिलाफ कार्रवाई करते हुए गौतम बुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar) प्रशासन और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) तैयारियों में जुट गए हैं. हाल ही में प्रशासन ने अथॉरिटी को एक लिस्ट भेजी है. यह लिस्ट 153 फ्लैट-प्लाट और विला की है. एक  हफ्ते में लिस्ट का मूल्याकंन करने के बाद अथॉरिटी इस लिस्ट को अपनी बेवसाइट पर जारी कर देगी. सभी प्रापर्टी की ई-नीलामी (E-Auction) की जाएगी. इस लिस्ट के आधार पर आप फ्लैट (Flat)-प्लाट और विला के लिए आवेदन कर सकते हैं. गौरतलब रहे गौतम बुद्ध नगर प्रशासन बकाया न चुकाने वाले बिल्डर्स की करीब 400 करोड़ रुपये की प्रापर्टी को कुर्क कर चुका है.

100 करोड़ रुपये से ज्यादा की होने है वसूली

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो 24 बिल्डरों की 153 प्रापर्टी को नीलाम कर 100 करोड़ रुपये से ज्यादा का बकाया वसूला जाना है. सूत्रों की मानें तो प्रापर्टी की इस लिस्ट में कॉसमॉस बिल्डर की 47, गायत्री हॉस्पिटेलिटी की 29, एलीगेंट इंफ्राकॉन के 3, इको ग्रीन बिल्टेक के 2, सुपर सिटी डेवलपर्स के 3, रेडिकॉन इंफ्रास्ट्रक्चर एंड हाउसिंग के 4 और न्यूटेक प्रोमोटर एंड डेवलपर्स की 2 प्रापर्टी हैं. वहीं महागुन इंडिया की 4, मोर्फियस डेवलपर्स की 6, बुलंद रियलटर्स की 5, इम्पीरिया स्ट्रक्चर्स की 1, रूद्र बिल्डवेल इंफ्रा की 4, होम एंड सोल इंफ्राटेक की 9, केलटेक इंफ्रास्ट्रक्चर की 7, जेएसएस बिल्डकॉन की 8, रुद्र बिल्डवेल होम्स की 4, हैवीटेक इंफ्रास्ट्रक्चर, एसेंट बिल्डटेक और हैवे इंफ्रास्ट्रक्चर की एक—क प्रापर्टी को ई-नीलामी में शामिल किया जाएगा.

350 फ्लैट और 69 विला होने हैं नीलाम

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में साल 2021 में 40 बिल्डर्स की करीब 500 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति को सीज किया था . सीज संपत्ति में 350 फ्लैट, 6 प्लाट, 35 दुकानें और 69 लग्जरी विला बताए जा रहे हैं. इसमें शॉप्रिक्स मॉल की जब्त की गई दुकानें भी शामिल हैं. प्रशासन के मुताबिक सभी विला और दुकानों के साथ ही बकाएदार 40 बिल्डरों की जब्त संपत्ति भी नीलाम की जाएगी.

प्रशासन ने प्रापर्टी पर चिपकाए  नोटिस

गौरतलब रहे गौतम बुद्ध नगर प्रशासन ने संपत्ति को सीज करने के साथ ही नोटिस भी चिपका दिए हैं. नोटिस में साफ तौर पर चेतावनी दी गई है कि इस संपत्ति को जिला प्रशासन ने अपने कब्जे में ले लिया है, लिहाजा कोई भी इसकी खरीद-फरोख्त न करे. बिल्डर्स को भी चेतावनी दी गई है कि नोटिस जारी होने के बाद वह इसकी बिक्री न करें. वहीं ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है.

Tags: E-auction, Gautam Buddha Nagar, Greater Noida Authority, UP RERA



Source link

more recommended stories