नए साल से महंगा होने जा रहा है एटीएम का इस्तेमाल, हर ट्रांजैक्शन पर देने होंगे इतने रुपये, यहां देखें

नए साल में एटीएम (ATM) का इस्तेमाल करना महंगा होने जा रहा है. आरबीआई (RBI) ने सभी बैंकों को एक जनवरी, 2022 से एटीएम ट्रांजेक्शन (ATM Transaction) के चार्जेज बढ़ाने की अनुमति दे दी है. अब आपके एटीएम पर जितने फ्री ट्रांजेक्शन (Free Transaction) की सुविधा दी गई है, उससे अधिक इस्तेमाल करने पर पहले की तुलना में बैंक को अधिक पैसे देने होंगे

RBI ने बैंकों को दी चार्ज बढ़ाने की अनुमति

रिजर्व बैंक के एक नोटिफिकेशन (RBI Notification) के अनुसार, फ्री ट्रांजेक्शन की मंथली लिमिट (MOnthly Limit) के बाद बैंक ग्राहकों को अब अधिक पैसे देने होंगे. अभी यह हर ट्रांजेक्शन पर 20 रुपये की दर से वसूला जाता है. एक जनवरी 2022 से यह बढ़कर प्रति ट्रांजेक्शन 21 रुपये हो जाएगा. यह फाइनेंशियल (Financial) और नॉन-फाइनेंशियल (Non-Financial) दोनों तरह के ट्रांजेक्शन पर लागू होगा.
चार्ज के ऊपर लगता है टैक्स

रिजर्व बैंक ने यह भी साफ-साफ कहा है कि अगर कोई टैक्स (Applicable Tax) लागू होता है, तो वह इस चार्ज से अलग होगा. यानी अभी तक 20 रुपये चार्ज के अलावा टैक्स लगता था. अब 21 रुपये का चार्ज और उसपर लागू टैक्स वसूला जाएगा.
बैंक ग्राहकों को हर महीने अपने बैंक के एटीएम से पांच ट्रांजेक्शन फ्री में करने दिया जाता है. अन्य बैंकों से फ्री ट्रांजेक्शन की लिमिट (Free Transaction Limit) इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस तरह के शहर में रह रहे हैं. मेट्रो शहरों (Metro Cities) में रहने वाले बैंक ग्राहक अन्य बैंक के एटीएम से हर महीने तीन बार फ्री ट्रांजेक्शन कर सकते हैं. अन्य शहरों के ग्राहक दूसरे बैंक के एटीएम से भी हर महीने पांच फ्री ट्रांजेक्शन कर सकते हैं.
बैलेंस चेक करने पर भी कटते हैं पैसे

उल्लेखनीय है कि बैंक ग्राहकों को दी जाने वाली फ्री लिमिट में नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन की भी गिनती की जाती है. यानी अगर आप एटीएम से बैलेंस चेक (Balance Check) करते हैं या मिनी स्टेटमेंट (Mini Statement) देखते हैं, तो इससे भी फ्री ट्रांजेक्शन की लिमिट कम होगी. एटीएम में जाकर कार्ड का पिन (Card Pin Change) बदलना भी ट्रांजेक्शन गिना जाता है. हालांकि कुछ बैंक अपने ग्राहकों को नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन पर चार्ज से छूट प्रदान करते हैं.

more recommended stories