Navratri Celebration: मेरठ में बंगाल के मूर्तिकारों की बढ़ी डिमांड, जानिए क्या है विशेष तैयारी


रिपोर्टर- विशाल भटनागर

मेरठ: नवरात्र में मां दुर्गा की धूमधाम से पूजा की जाती है. मां दुर्गा के पंडाल भी लगाए जाते हैं. जिसमें श्रद्धालु विधि-विधान के साथ पूजन करते हैं. कुछ इसी तरह का नजारा वेस्ट यूपी के मेरठ में भी देखने को मिल रहा है. जहां नवरात्रों के आने से पूर्व यहां पर बड़ी मात्रा में मूर्तियों की डिमांड हो रही है. कलाकार उन मूर्तियों को भी बना रहे जो कि विशेष पंडाल में लगाईं जाएंगी.

इन नवरात्र की बात की जाए विशेष पंडालों के लिए मूर्तिकारों के पास लोगों की विशेष डिमांड आ रही है. कई लोग तो घर में विराजमान करने के लिए भी विशेष तरह की मूर्तियों के ऑर्डर दे रहे हैं. वहीं विशेष पंडालों के लिए बड़ी-बड़ी मूर्तियों के ऑर्डर आ रहे हैं. सरधना, कैराना, गाजियाबाद, मोदीनगर, मेरठ सदर सहित अन्य इलाकों से बड़ी-बड़ी मूर्तियों की डिमांड की जा रही हैं. मौजूदा समय की बाद करें तो बाजार में 6 फीट तक की मूर्तियां उपलब्ध हैं. जिनकी कीमत 25 से ₹30 हजार तक है.

बेहद खास होती है यह मूर्ति
यह मूर्ति काफी खास होती हैं. क्योंकि यह चिकनी मिट्टी के द्वारा बनाई जाती हैं. मूर्ति बनाने वाले राज प्रजापति ने बताया कि मूर्तियों के काफी आर्डर मिल रहे हैं. लेकिन इन मूर्तियों को बनाने में अन्य मूर्तियों से अधिक समय लगता है. क्योंकि चिकनी मिट्टी की होती है तो सूखने में कई दिन लग जाते हैं. ऐसे में जितने आर्डर को पूरा किया जा सकता है उतने ही ऑर्डर पर मूर्तियां बनाई जा रही है.

अमावस्या के दिन होती है मां विराजमान
जिस तरीके से बंगाल में मां दुर्गा की मुख्य रूप से विधि-विधान के साथ पूजा-अर्चना की जाती है. बड़े-बड़े पंडाल लगाए जाते हैं. उसी तरह का नजारा मेरठ में भी देखने को मिलता है. अमावस्या के दिन विशेष पंडालों में मां भगवती की मूर्ति को विराजमान किया जाता है. बताते चलें कि मेरठ के सदर इलाके में भी बंगाल परिवार द्वारा मां भगवती का बड़ा विशाल पंडाल लगाया जाता है.

जिसमें मां आदिशक्ति को सोने और चांदी के आभूषणों से सजाया जाता है.

Tags: Meerut news, Meerut police, Navratri Celebration, Navratri festival



Source link

more recommended stories