Mulayam Singh Yadav: 2006 में काशी के ज्योतिषी की भविष्यवाणी सुनकर चौंक गए थे मुलायम सिंह यादव!


रिपोर्ट-अभिषेक जायसवाल

वाराणसी. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) का सोमवार की सुबह निधन हो गया. उन्‍होंने गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में अपनी जिंदगी की आखिरी सांसे ली. उनके निधन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) समेत तमाम नेताओं ने शोक प्रकट किया. वहीं, धर्म नगरी काशी में माहौल गमगीन है. जबकि यहां के ज्योतिषाचार्य से नेताजी का गहरा लगाव रहा है. इसके जुड़े दिलचस्प किस्से भी हैं.

मुश्किल के वक्त अक्सर मुलायम सिंह यादव काशी के ज्योतिषी स्वामी कन्हैया महाराज से ज्योतिषी सलाह लिया करते थे. इसके अलावा विशेष पूजा अनुष्ठान भी उनके उपस्थिति में होता था. स्वामी कन्हैया महाराज ने बताया कि 2006 में जब विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज थी, तब मुलायम सिंह यादव यूपी की सत्ता में दोबारा वापसी को लेकर चिंतित थे, तभी उन्होंने मुझे लखनऊ स्थित मुख्यमंत्री भवन बुलाया था. स्वामी कन्हैया महाराज के मुताबिक, उस वक्त मैंने मुलायम सिंह यादव के हाथों की लकीरें देखकर साफ कहा था कि 2007 में उनके हाथ से सत्ता की कुर्सी चली जाएगी. यह सुनकर वह चौंक गए थे. हालांकि यूपी विधानसभा चुनाव का नतीजा भी कुछ वैसा ही आया जैसा भविष्यवाणी की थी. सपा के बाद यूपी में बसपा की सरकार बनी थी.

शनि दोष से मुक्ति की कराई थी पूजा
स्वामी कन्हैया महाराज ने बताया कि शनि के दोष के कारण उस वक्त मुलायम सिंह यादव को सत्ता से जाना पड़ा था. उसके बाद उन्होंने शनि की शांति के लिए काशी में गुपचुप तरीके से विशेष पूजा कराई थी. पूजा के बाद जीवित मछलियों को गंगा में छोड़ा भी गया था. उसके बाद दोबारा 2012 में समाजवादी पार्टी पूर्ण बहुमत से सरकार में आई.

स्वास्थ्य लाभ के लिए भी की थी पूजा
इसके पहले भी स्वामी कन्हैया महाराज ने दावा किया कि उन्होंने मुलायम सिंह यादव के लिए कई पूजा अनुष्ठान किए थे. 2005 में बीमारी के वक्त लखनऊ के लक्ष्मण मेला मैदान में पूजा हुई. इसके बाद अगले ही दिन विधानसभा भवन के बाहर भी नेता जी के स्वास्थ्य लाभ के लिए सवा लाख महामृत्युंजय मंत्र का जाप किया गया. इटावा के तत्कालीन एमएलसी दयाराम प्रजापति ने इसका आयोजन कराया था.

दो साल पहले की थी मोदी की तारीफ
ज्योतिषाचार्य स्वामी कन्हैया महाराज की नेताजी से आखरी मुलाकात 2019 में लखनऊ में हुई थी. उस दौरान उन्होंने स्वामी का कन्हैया महाराज से बनारस के विकास को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ भी की थी. बता दें कि मुलायम सिंह यादव वाराणसी में अपने राजवैद्य शिव शंकर वैद्य के घर भी अक्सर आया करते थे.

Tags: Mulayam Singh Yadav, Mulayam Singh Yadav family, Mulayam singh yadav news, Varanasi news



Source link