Moradabad : छोटे बच्चों का आधार कार्ड बनवाने कहीं न जाएं! आपके घर आकर ही बनाएंगे सरकारी कर्मचारी


रिपोर्ट – पीयूष शर्मा

मुरादाबाद. आशा कार्यकर्ता बच्चों को जीवन रक्षक टीका लगाने के साथ-साथ उनका आधार कार्ड बनवाने का भी काम करेंगी. आशा कार्यकर्ता की सूचना पर डाकिया या शाखा डाकपाल बच्चों के घर पर जाकर आधार कार्ड बनाएंगे. सरकार शिशु के जन्म लेने के साथ ही आधार कार्ड बनवाने का प्रयास कर रही है. देश में रहने वाले सभी व्यक्तियों के आधार कार्ड बनने पर ज़ोर दिया जा रहा है. धीरे-धीरे आधार कार्ड से सरकार योजनाओं के साथ प्राइवेट कंपनियों को जोड़ने जा रही है. साथ ही बड़े सामान की खरीदारी पर पैन कार्ड के स्थान पर आधार नंबर बताना होगा.

डाकघर गांव-गांव तक है इसलिए सभी डाकघरों में आधार कार्ड बनवाने की व्यवस्था की गई है. डाकिया को हैंड मशीन दी गई है. इसके द्वारा 5 साल तक के बच्चों का आधार कार्ड बनाया जाएगा. इसके अलावा आधार में दर्ज मोबाइल नंबर बदल सकते हैं. वर्तमान में 5 साल से कम उम्र के अधिकतर बच्चों का आधार कार्ड नहीं बना हुआ है. डाक विभाग और स्वास्थ्य विभाग के बीच करार हुआ है. इसके तहत स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने सभी आशा कार्यकर्ताओं को आदेश दिया है कि वह अपने क्षेत्र में 5 साल तक की उम्र के बच्चों की सूची तैयार करें. यह भी पता करें कि किसका आधार कार्ड बना है और किसका नहीं.

आशा वर्कर वह सूची स्थानीय डाकघर के शाखा डाकपाल को प्रबुद्ध कराएंगी. शाखा डाकपाल या डाकिया सूची के आधार पर संबंधित बच्चों के घर जाएंगे और बच्चों का आधार कार्ड बनाएंगे. आधार कार्ड बनवाने पर कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा.

घर-घर जाकर बनेगा आधार

प्रवर डाक अधीक्षक वीर सिंह ने न्यूज़ 18 लोकल को बताया आधार कार्ड बनने का कार्य तो बहुत पहले से चल रहा है. मंडल में 62 सेंटर हैं, जिनमें से 23 सेंटर मुरादाबाद शहर और डिवीज़न में है. इसके अलावा 5 साल से छोटे बच्चों के आधार कार्ड को मंडल में 405 शाखा डाकपाल बना रहे हैं. मुरादाबाद के डीएम के साथ समीक्षा बैठक भी हुई, जिसमें निर्णय लिया गया कि आंगनवाड़ी आशा वर्कर घर-घर जाकर 5 साल से छोटे बच्चों का डाटा उपलब्ध कराएंगी. डाकपाल सूचना के आधार पर घर-घर जाकर बच्चों के आधार कार्ड बनाएंगे.

Tags: Aadhar card, Moradabad News



Source link