Moradabad : अब यहां नहीं चलेगी अफसरों की मनमानी, 15 मिनट भी लेट तो गई सैलरी! जानिए ऐसा क्यों


रिपोर्ट – पीयूष शर्मा

मुरादाबाद. अब प्रोबेशन विभाग के कर्मचारियों की लेटलतीफी नहीं चलेगी. 15 मिनट देरी से पहुंचे तो वेतन कटेगा. कार्यालय के कमरों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. विभाग के निदेशक राजेश गुप्ता स्वयं निगरानी कर रहे हैं. असल में इस विभाग में कर्मचारियों का काफी लापरवाह रवैया दिखाई दिया था. योजना के आवेदन सत्यापन के लिए लंबित थे. पेंशनरों का आधार प्रमाणीकरण काम 35% ही हो पाया. इन तमाम खामियों का बड़ा कारण था कर्मचारियों का दफ्तर में ठीक तरह से पूरा समय न देना. अब इस कमी को दूर करने के लिए कड़ा कदम उठाया गया है.

निवर्तमान प्रोबेशन अधिकारी प्रिया पटेल के तबादले के बाद युवा कल्याण अधिकारी नरेश चौहान ने विभाग का कार्यभार संभाला था. 3 महीने के कार्यकाल में उन्होंने कई कमियां पकड़ीं. अक्टूबर में निदेशक राजेश गुप्ता ने प्रोबेशन विभाग का कार्यभार संभाला. गुप्ता ने न्यूज़ 18 लोकल को बताया ‘हमने विभाग के अलग-अलग चार कमरों में फोन की व्यवस्था की और सभी कमरों में सीसीटीवी लगवाए हैं, जो वाईफाई कनेक्टेड हैं. ये सब इसलिए किया गया है ताकि हम जनता के प्रति जवाबदेह बनें. लोगों की समस्या या काम का समय से निस्तारण कर सकें.’

कैसी मनमानी चल रही इस विभाग में?

गुप्ता ने न्यूज़18 से कहा ‘मैंने कुछ ही माह पूर्व पद संभाला है. मैंने देखा कि कई विभागीय योजनाओं में पिछड़ापन है. जैसे हम निराश्रित विधवा पेंशन योजना सहित कई स्कीमों में स्टेट में पिछले पायदान पर थे जबकि हमारे पास बहुत अच्छा स्टाफ है. वजह दिखी कि कर्मचाी दफ्तर आते थे पर कोई समय तय नहीं था. मनमर्ज़ी चल रही थी.’

गौरतलब है कि नियमानुसार सभी अधिकारियों को सुबह 10 से कार्यालय आने के निर्देश हैं लेकिन ऐसा नहीं होता. अफसर अपने हिसाब से दफ्तर पहुंचते हैं. अधिकारियों को जनता की समस्या सुनने के लिए सीयूजी नंबर उपलब्ध कराए गए हैं, लेकिन शिकायतें ये भी रही हैं कि मुरादाबाद में बहुत से अफसर सीयूजी नंबर पर कॉल ही नहीं उठाते.

Tags: Moradabad News, Office culture



Source link